जिलाधिकारी के आदेश को अनसुनी कर दी नगर आयुक्त ने

अंधेरे में लिपटा साढ़ा ढाला ओवर ब्रिज

छपरा (TBN – छपरा संवाददाता)| डीएम द्वारा गत शुक्रवार को साढ़ा ढाला ओवर ब्रिज पर लाइट जलाने का आदेश नगर आयुक्त को देने के बावजूद आज भी यह पुल अंधेरे में डूबा पड़ा है. इससे यह लगता है कि छपरा नगर निगम के नगर आयुक्त जिला अधिकारी का भी आदेश नहीं मानते हैं.

बता दें कि पिछले 1 महीने से इस पुल पर लाइट खराब होकर बंद पड़ा है. इस संबंध में कई बार शिकायत की गई तो नगर निगम आयुक्त संजय कुमार उपाध्याय कहते हैं कि पुल के नीचे असामाजिक तत्वों का अड्डा है और वह पुलिस से मिली हुई है.

इस कारण पुल के लाइट की टाइमर को खराब कर दिया जाता है. इस टाइमर को एक बार बनाने में रु 5000 का खर्च आता है जिसे कौन देगा, यह मालूम नहीं है.

इस संबंध में जब पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार से बात की गई तो उन्होंने कहा कि संबंधित विभाग और डीएम साहब से कहिए.

आप इसे भी पढ़ेंमनु महाराज का फर्जी फ़ेसबुक अकाउंट बना फंस गया नकली ‘मनु’

जब उनसे कहा गया कि आप सारण जिला की पुलिस के मुखिया है तथा लॉ एण्ड ऑर्डर की जिम्मेदारी आपकी की है, तो उन्होंने इस बात को अनसुना कर दिया. इतना ही नहीं, इस संबंधित रिपोर्ट को उन तक पहुंचाने वाले रिपोर्टर को भी उन्होंने अपने पुलिस मीडिया ग्रुप से निकाल दिया.

सारण डीएम निलेश रामचंद्र देवरे

वहीं, जब सारण डीएम निलेश रामचंद्र देवरे से जब इस विषय में बात की गई तो उन्होंने कहा कि यह मामला नगर निगम का है, आप उनसे बात करें. वैसे इस बावत उन्होंने पिछले शुक्रवार को मौखिक रूप से नगर निगम आयुक्त संजय कुमार उपाध्याय को इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिया. लेकिन आज बुधवार तक पुल पर लाइट को ठीक नहीं किया जा सका है जिससे कभी भी अंधेरे में इस पुल पर घटना दुर्घटना हो सकती है.