बाढ़: सफाईकर्मियों के हड़ताल पर जाने से चरमराई सफाई व्यवस्था

बाढ़ (अभिषेक कु सिन्हा – The Bihar Now रिपोर्ट)| बाढ़ नगर परिषद में आजकल सब कुछ उल्टा चल रहा है. कारण है, सेलेक्टेड बॉडी और एलेक्टेड बॉडी के बीच का आपसी ‘शीतयुद्ध’. इस शीतयुद्ध ने पूरे शहर में विकास के कार्यों को लगभग ठप्प कर दिया है. यह परिषद कितना निष्क्रिय है इसका सबूत यह भी है कि इसके बॉउन्ड्री के अंदर रखे लाखों रुपये के उपकरण पड़े पड़े सड़ रहे हैं लेकिन इन्हें देखने वाला कोई नहीं है.

इसी बीच परिषद के सफाई कर्मी 3 माह के अपने बकाये वेतन के भुगतान की मांग को लेकर हड़ताल पर चले गए हैं. उनकी मांग यह भी है कि उन्हें अंतरिम वेतन भी दी जाए. अब इस हड़ताल से पूरे शहर में सफाई-व्यवस्था की बड़ी समस्या खड़ी हो गई है.

इधर सफाई कर्मियों के वेतन की मांग को लेकर मुख्य पार्षद से लेकर कार्यपालक पदाधिकारी के पास कोई जवाब नहीं नजर आ रहा है. सभी कोई एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं.

हड़ताल पर गए कर्मियों का कहना है कि पिछली बार जब वे हड़ताल पर गए थे, तो उस वक्त यहां के विधायक के साथ सभी उच्च अधिकारियों ने लिखित आश्वासन दिया था कि उनका वेतन का भुगतान समय पर हो जाया करेगा. कर्मियों के मुताबिक, अभी भी उनका वेतन समय पर नहीं मिलता है.

आपने इस खबर कप पढ़ा क्याराजद नेता तेजस्वी ने 2021 में मध्यावधि चुनाव की भविष्यवाणी की

हड़ताली सफाई कर्मियों ने कहा है कि इस बार जब तक उनके वेतन से संबंधित समस्या का स्थाई समाधान नहीं होगा, तब तक शहर में सफाई व्यवस्था शुरू नहीं की जाएगी.