शाहिनबाग़ का मास्टरमाइन्ड गिरफ्तार | जहानाबाद के काको से हुआ गिरफ्तार

जहानाबाद/पटना (TBN रिपोर्टर) | शाहिनबाग़ का मास्टरमाइन्ड तथा देश को टुकड़ों में बांट देने जैसा विवादित भाषण देने वाला बिहार के जहानाबाद के काको का मूल निवासी शरजील इमाम मंगलवार दोपहर पुलिस के हत्थे चढ़ गया. ज्ञातव्य है कि देश के विरुद्ध और देश को बांटने की बात वाले वीडियो वायरल होने के बाद से शरजील छिपता फिर रहा था. असम को भारत से अलग करने के भड़काऊ बयान के बाद शरजील चर्चा में आया था. बताया जा रहा है कि शरजील को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार किया है. इससे पहले शरजील इमाम के जिला के काको स्थित पैतृक आवास पर छापेमारी कर उसके चचेरे भाई समेत तीन लोग को लिया हिरासत में लिया गया था.

 

मंगलवार को दिल्ली पुलिस ने दावा किया था कि फरार शरजील को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा. शरजील की गिरफ़्तारी के लिए गठित पांच टीमों ने मुंबई, दिल्ली, पटना के कई इलाकों में छापेमारी की. वैसे दिल्ली पुलिस अपराध शाखा के ही एक उच्च अधिकारी ने सोमवार रात कहा था कि शरजील पुलिस के रेडार से गायब हो चुका है. उन्होंने चिंता जाहिर की थी कि कहीं शरजील नेपाल न निकल गया हो क्योंकि नेपाल भागने के बाद भारत लाने में तमाम कानूनी अड़चनों के कारण बहुत पापड़ बेलने पड़ सकते थे.
शरजील का परिवार मूल रूप से बिहार के जहानाबाद जिले के काको का रहने वाला है. शरजील के पिता अकबर इमाम जेडीयू नेता थे जिनका निधन कुछ साल पहले लंबी बीमारी के बाद हो गया था. सीएम नीतीश कुमार के करीबी रहे अकबर इमाम ने साल 2005 में जहानाबाद सीट से जेडीयू के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा था, जेडीयू की गठबंधन सहयोगी होने के नाते उस चुनाव में उन्हें बीजेपी का भी साथ मिला था. हालांकि वह आरजेडी के उम्मीदवार सच्चिदानंद राय से 3000 से ज्यादा वोटों से चुनाव हार गए थे.
शरजील के पिता के निधन के बाद उसका छोटा भाई मुजम्मिल इमाम काफी वक्त तक जेडीयू से जुड़ा रहा. कुछ महीने पहले वह जेडीयू छोड़कर CAA के विरोध में काफी सक्रिय हो गया है तथा वह भी पटना, जहानाबाद समेत कई जगहों पर नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शनों में शामिल रहा और लोगों को इसके विरोध में लामबंद करने में जुटा है.