एनटीपीसी में गणतंत्र दिवस का आयोजन, मेधावी छात्रों को दी गई छात्रवृत्ति

एनटीपीसी बाढ़ में गणतंत्र दिवस का आयोजन,
कार्यकारी निदेशक प्रवीण सक्सेना
ने किया झंडोत्तोलन,
मेधावी छात्रों के बीच छात्रवृत्ति का वितरण
.

republic day celebrated at ntpc barh

बाढ़ (अखिलेश कु सिन्हा – The Bihar Now रिपोर्ट)| गणतंत्र दिवस के अवसर पर मंगलवार को एनटीपीसी बाढ़ परियोजना (NTPC Barh) में झंडोत्तोलन किया गया. इस अवसर पर तीन जगहों पर झंडोत्तोलन किया गया. खेल स्टेडियम में एनटीपीसी बाढ़ परियोजना के कार्यकारी निदेशक प्रवीण सक्सेना ने तिरंगा फहराया, जबकि मंदाकिनी क्लब की अध्यक्ष डॉ नीलम सक्सेना ने क्लब परिसर में और महाप्रबंधक (ओ एंड एम) डी. साहू ने प्लांट परिसर में झंडोत्तोलन किया.

कोरोना महामारी (Covid-19) के कारण झंडोत्तोलन के समय सामाजिक दूरी (Social Distancing) का अनुपालन किया गया था. मुख्य कार्यक्रम को दो चरणों में पूरा किया गया. द्वितीय चरण में परियोजना प्रभावित क्षेत्रों के कुल 29 छात्रों के बीच आर ऐंड आर के तहत छात्रवृत्ति पुरस्कार का वितरण किया गया.

एनटीपीसी बाढ़ परियोजना के कार्यकारी निदेशक ने अपने अभिभाषण में एनटीपीसी परिवार और बाढ़ के निवासियों को गणतंत्र दिवस की बधाईयां दी. कोरोना कल में विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित प्रत्येक व्यक्ति से कोरोना की सावधानियों के सार्थक अनुपालन की अपील भी की.

600 मेगावाट की एक और इकाई जल्द

इस अवसर पर प्रथम यूनिट का सफल सिंक्रनाइजेशन और कोल फायरिंग प्राप्त करने के लिए कार्यकारी निदेशक ने टीम के सभी कर्मचारियों की सराहना की. उन्होंने कहा कि एनटीपीसी बाढ़ जल्द ही देश को 660 मेगावॉट की एक और विद्युत इकाई समर्पित करने जा रहा है.

उन्होंने एनटीपीसी की नवीकरणीय ऊर्जा में प्रतिस्पर्धी पहल और बीते सप्ताह रिकॉर्ड विद्युत उत्पादन हासिल करने पर भी चर्चा की. इसके बाद परियोजना की सफलताओं पर प्रकाश डालते हुए और अनेक यूनियन व प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों के कार्यों की सराहना करते हुए उन्होंने अपना वक्तव्य समाप्त किया.

आप यह भी पढ़ेंगणतंत्र दिवस पर सीएसआर के तहत छात्राओं को दिया स्वेटर और बैग

कार्यक्रम समाप्ति के बाद आर ऐंड आर विभाग द्वारा एनटीपीसी उत्कर्ष नीति (NTPC Utkarsh Policy Scheme) के तहत परियोजना प्रभावित क्षेत्र के 29 छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान की गई. प्रत्येक छात्र को 3000 रुपये की छात्रवृत्ति प्रदान की गई. इसके साथ ही उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए उपयुक्त मार्गदर्शन भी दिया गया.

मंदाकिनी क्लब ने भी परियोजना प्रभावित क्षेत्र के 38 अन्य छात्रों को सम्मानित करने की घोषणा की जिन्हें जल्द ही क्लब के सौजन्य से छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी. इस दौरान आर ऐंड विभाग से सुश्री वीरा संगीता बखला, राजधर तिवारी एवं अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे. उल्लेखनीय है कि बाढ़ परियोजना पिछले कई वर्षों से समीपवर्ती क्षेत्र के निवासियों को प्रोत्साहन प्रदान करती रही है. पिछले वर्ष भी 16 छात्रों को उत्कर्ष स्कॉलरशिप प्रदान की गई थी.