बिहार के पोस्टर वॉर में कांग्रेस भी कूदी

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट)– बिहार में पोस्टर वॉर ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. एक तरफ जहाँ बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और जनता दल यूनाइटेड (जदयू) दोनों राजनीतिक पार्टियां नए नए मुद्दों के पोस्टर लगाकर एक दूसरे पर राजनीतिक हमला कर रही हैं और एक दूसरे पर आरोपों की झड़ी लगाकर बड़े ही मज़ेदार पोस्टर जारी रहीं हैं. इस कड़ी में आज कांग्रेस भी जुड़ गयी है. गुरुवार को राजधानी पटना में कांग्रेस की तरफ से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को निशाना बनाते हुए पोस्टर लगाए गए हैं. पोस्टर के ऊपर लिखा है, ‘भाजपा के डीएनए में झूठ, धोखा और साजिश.’  ‘आरक्षण खत्म नहीं होने देंगे अवतार’. पोस्टर में राहुल गाँधी को अवतार के रूप में दर्शाया गया है.

राहुल गांधी आरक्षण को चुनाव का अहम्  मुद्दा बनाकर अपने विचार व्यक्त करते रहे हैं और आरक्षण के मुद्दे पर हमेशा से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आर.एस.एस.) पर आरोप लगाते आये हैं. पिछले दिनों राहुल गांधी ने आरक्षण के मुद्दे पर भाजपा और आर.एस.एस.पर हमला बोलते हुए कहा था कि ” आर.एस.एस.और भाजपा की जो विचारधारा है वो आरक्षण के खिलाफ है और वो किसी न किसी तरह आरक्षण को भारत के संविधान से निकालना चाहते हैं. कोशिश होती रहती है.  आर.एस.एस.और भाजपा वाले जितने भी सपने देख लें, आरक्षण को हम कभी नहीं मिटने देंगे क्योंकि आरक्षण संविधान का हिस्सा है.’

याद हो पिछले विधानसभा चुनाव में बिहार आये आरएसएस के सरसंघचालक मोहन भागवत ने कहा था कि “आरक्षण की समीक्षा होनी चाहिए” राजनीतिक दलों ने उनके इस बयान को बहुत उछाला था और उसका खामियाज़ा भाजपा को भुगतना पड़ा था.

कांग्रेस का राहुल गाँधी को अवतार के रूप में गुस्से से दिखाते हुए पोस्टर जारी करने का बिहार के चुनाव में कितना फायदा मिलेगा ये तो चुनाव के नतीजे आने के बाद ही पता चलेगा।