कोरोना संदिग्ध मिलने से गांव में दहशत

 

सीवान (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) | देश भर में कोरोना के मामले लगतार तेज़ी से बढ़ते ही जा रहे हैं. देश के सभी राज्यों में कोरोना वायरस से संक्रमितों का आंकड़ा दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है. बिहार में कोरोना वायरस के प्रकोप से 2 मौतें हो चुकी हैं. अभी भी कोरोना के आशंकित मरीज स्वास्थ्य विभाग की पकड़ से बाहर हैं जिसका सबसे बड़ा कारण हैं कोरोना संदिग्ध मरीज अस्पताल प्रशासन का सहयोग नहीं करना चाह रहा है और स्वयं ही जांच और इलाज़ से दूर भाग रहा है. ताज़ा मामला बिहार के सीवान से आ रहा है जहां कोरोना वायरस का एक संदिग्ध मिला है. फिलहाल  मौके पर पहुंची प्रशासनिक टीम के द्वारा संदिग्ध युवक को पकड़कर स्क्रीनिंग के लिए भेज दिया गया है.

मिली जानकारी के अनुसार सहुली गांव में एक युवक के कोरोना के संक्रमण की आशंका के बाद गांव वालों द्वारा दी गयी खबर के आधार पर स्वास्थ्य विभाग एवं प्रशासन की मदद से पकड़कर आवश्यक जाँच के लिए भेज दिया गया है. गांव में कोरोना संदिग्ध युवक के मिलने से दहशत का माहौल है. कोरोना को लेकर अस्पताल और  प्रशासन दोनों ही जागरूक एवं मुस्तैद हैं.

इससे पहले भी ऐसा ही मामला फुलवारीशरीफ के गोनपुरा से सामने आया था जिसमें प्रशासन ने कोरोना से संक्रमित राहुल शर्मा नाम के एक युवक को गिरफ्त में लिया था। मामला ये था कि जांच के दौरान राहुल के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि होने बाद उनको पटना एम्स में भर्ती किया गया जहाँ उनका इलाज़ चल रहा था। लेकिन अस्पताल प्रशासन की लापरवाही की वजह से राहुल पटना एम्स से भाग निकला था। फिलहाल राहुल को एनएमसीएच में भर्ती किया गया है जहाँ अस्पताल प्रशासन की विशेष निगरानी में उसका इलाज चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.