कोई पुल धाराशाई नहीं हुआ – बिहार सरकार

पटना (TBN – The Bihar Now desk) | गुरुवार सुबह लगभग सभी मीडिया में बिहार के गोपालगंज जिले में एक नवनिर्मित पुल के धाराशायी होने की खबर चलने लगी. कहा गया कि पिछले महीने 16 तारीख को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा उद्घाटित गोपालगंज में सत्तर घाट के पास एक पुल टूट गया. इस पुल के निर्माण में 264 करोड़ खर्च हुए थे.

इसी बीच बिहार सरकार की तरफ से एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर यह साफ किया गया कि वहां कोई पुल नहीं गिरा है बल्कि सत्तर घाट मुख्य पुल से लगभग दो किमी दूर गोपालगंज की ओर गंडक नदी के बांध के अन्दर अवस्थित एक 18 मी लम्बाई के छोटे पुल का पहुँच पथ पानी के दबाव के कारण कट गया है.

विज्ञप्ति में कहा गया कि चूंकि गंडक नदी में पानी का दबाव गोपालगंज की ओर ज़्यादा है, इस कारण पुल के पहुँच का सड़क का हिस्सा कट गया है. पानी के अत्यधिक दबाब के हुए इस कटाव से छोटे पुल की संरचना को कोई नुक़सान नहीं हुआ है.

विज्ञप्ति में यह भी बताया गया है कि मुख्य सत्तर घाट पुल जो 1.4 किमी लंबा है वह पूर्णतः सुरक्षित है तथा पानी का दबाव कम होते ही यातायात चालू कर दिया जाएगा. विज्ञप्ति में यह साफ किया गया कि इस पुल योजना में कोई अनियमितता का मामला नहीं है बल्कि यह एक प्राकृतिक आपदा है. और इस मामले में विभाग पूरी तरह मुस्तैद है.