मसान नदी ने सैकड़ों एकड़ खेत की फसल को किया बर्बाद

बगहा (इमरान अजीज – The Bihar Now) | बगहा से एक बड़ी खबर आ रही है जहां पहाड़ी नदी मसान के बदलेते दो धार ने किसानों के सैकड़ों एकड़ खेत और फसल पर जमकर कहर बरपाया है. शुरुआती मानसून और कई दिनों की बरसात में ही मसान का कहर ज़ारी है.

रामनगर और बगहा-1 प्रखंड को दो हिस्सों में बांटती मसान नदी से यहां हर साल इलाक़े में बाढ़ और कटाव की त्रासदी होती है. ऐसे में बगहा-1 प्रखंड के सलहा पंचायत समेत अजमल नगर और झारमहुई को जोड़ने वाली खडंजा सड़क भी मसान नदी में विलीन हो चुकी है. आलम यह है कि तमकुही और अजमल नगर समेत झारमहुई सलहा गावों में नदी का भीषण कटाव बदस्तूर जारी है.

बताया जा रहा है कि रामनगर प्रखंड और बगहा-1 प्रखंड के मध्य बहती मसान नदी ने अजमल नगर प्राथमिक विद्यालय को पहले ही अपने आगोश ले लिया है. इधर बहुअरी के पास मसान नदी पुल का पूर्वी पाया भी धंस गया है. ग्रामीणों ने शासन और प्रशासन से बाढ़ कटाव सुरक्षात्मक कार्य कराने की मांग किया है. मौक़े पर पांच हजार से अधिक EC बैग पैकेट तो तैयार कर रखा गया है, लेकिन जल संसाधन विभाग और प्रशासन ने अभी कोई बचाव राहत कार्य शुरू नहीं किए हैं.

सूचना पर बगहा एसडीएम विशाल राज़ ने मसान नदी का दबाव और कटाव से बचाव राहत कार्य शुरू कराने की बात कही है. उन्होंने बताया है कि नदी तट पर अभियंताओं को निगरानी के निर्देश दिए गए हैं तथा प्रशासन लगातार नदियों पर नज़र डाले हुए है.

इधर स्थानीय ग्रामीण और पूर्व सरपंच नज़रे इमाम, खालिक कुरैशी अध्यक्ष बाढ़ संघर्ष समिति के साथ रफ़ी अहमद, जयप्रकाश पांडेय, मनोज कुमार आदि ग्रामीणों किसानों ने जल्द कार्रवाई की मांग को लेकर प्रशासन और मुख्यमंत्री के नाम पत्र भेजा है.

Advertisements