लॉकडाउन में सबसे ज्यादा तबाह हुआ मजदूर वर्ग – CITU

छपरा (TBN रिपोर्ट) | शनिवार 30 मई को सीआईटीयू (CITU) का 50वां स्थापना दिवस छपरा जिला इकाई के द्वारा मनाया गया. इसमें बीएसएसआर यूनियन, निर्माण कामगार यूनियन, मिड डे मील वर्कर, बिजली तथा सीआईटीयू से संबंधित सभी यूनियन के तकरीबन 500 क्रांतिकारी साथियों ने भाग लिया. इस दिन सबों ने मानव श्रृंखला में भी भाग लिया.

50वां स्थापना दिवस के अवसर पर सबों ने अपने कार्यालयों तथा घरों पर सीआईटीयू के झंडे लगाए. इस अवसर पर सीआईटीयू के जिला कमिटी के निर्देश पर नंदन पथ दवा मंडी में मानव श्रृंखला का निर्माण किया गया. सबों ने एकता और संघर्ष के बलिदानों का वर्षगांठ मनाया.

इस मौके पर एक आम सभा भी की गई. इस सभा को बीएसएसआर यूनियन के सचिव तथा सीआईटीयू के राज्य कमिटी सदस्य मृत्युंजय ओझा ने सम्बोधित किया. उन्होंने कहा कि आन्दोलन और संर्घष ही मजदूरों के अस्तित्व की रक्षा कर सकता है. उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में हम सबके लिये अपने संगठन की मजबूती के लिये आज संकल्प लेने का दिन है.

इस अवसर पर सीपीआई (एम) के राज्य सचिव मंडल सदस्य कॉमरेड अहमद अली ने भी संबोधित किया. अपने सम्बोधन में उन्होंने मौजूदा समय को आजादी के बाद मजदूरों के लिये सबसे अधिक चुनौती पूर्ण बताया. इसके पीछे उन्होंने श्रम कानूनों में संशोधन कर मजदूरों के हक और अधिकार को सीमित करना बताया. उन्होंने कहा कि मजदूरों के काम के घंटों को बढा़ कर 12 घंटा किया जा रहा है.

अली ने कहा कि आज अपनी एकता को चट्टानी बनाये रखकर ही हम अपनी अस्तित्व की रक्षा कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि कोरोना लॉकडाउन में सबसे ज्यादा तबाह मजदूर वर्ग ही हुआ है.

उनके अनुसार यदि पूँजीपति और फैक्टरी मालिक मजदूरों के प्रति संवेदनशील होते तो आज उनकी हालत इतनी दयनीय नहीं होती. लॉकडाउन के दौरान कई मजदूर पैदल चलते हुए या दुर्घटना के शिकार हो गये हैं. इसके लिए उन्होंने सिर्फ मजदूर विरोधी व्यवस्था को जिम्मेवार बताया जिसमें पूँजीपति सिर्फ अपने मुनाफे के बारे में सोचते रहते हैं.

इन्होंने अन्त में मजदूरों की सबसे बडी़ संगठन CITU के स्थापना दिवस के मौके पर सभी को शुभकामनाएं दी और मजदूरों के श्रम को सलाम किया.

50वें स्थापना दिवस के इस अवसर पर दिनेश कुमार, विश्वनाथ बनर्जी, अजय कुमार, राजन मिश्रा, रमन कुमार, लक्की सिंह, प्रमोद सिंह, रविन्द्र सिंह, विकास तिवारी, सुशील पान्डे, विजय श्रीवास्तव, सुभाष मित्रा, राजेश कुमार, अविनाश कुमार, देवाशीश गोप आदि ने भी स्थापना दिवस पर अपनी शुभकामनाएं दी.