‘जीविका’ की महिलाओं के बीच बांटे गए 3.50 करोड़ रुपये के ऋण

बाढ़ (TBN – अखिलेश्वर सिन्हा की रिपोर्ट)| मंगलवार को भारतीय स्टेट बैंक और जीविका के तत्वाधान में एक ऋण वितरण शिविर का आयोजन किया गया. इस शिविर में 225 समूह के बीच 3.50 करोड़ रुपये बतौर ऋण वितरित किए गए.

इस ऋण वितरण शिविर में स्टेट बैंक के महाप्रबंधक मनोज कुमार गुप्ता मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे. महाप्रबंधक द्वारा जीविका द्वारा प्रायोजित स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के बीच ऋण वितरण किया गया.

इस आयोजन की शुरुआत में जीविका स्वयं समूह की महिलाओं ने वहां उपस्थित अधिकारियों के स्वागत में गाना गाया. उसके बाद सभी अतिथियों का पुष्प-गुच्छ देकर स्वागत किया गया.

इस अवसर पर महाप्रबंधक मनोज कुमार गुप्ता ने बताया कि छोटे समूहों को ऋण देने का बहुत फायदा होता है. सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि इन समूहों की महिलायें बहुत जिम्मेवारी से अपने कार्यों को चलाती हैं और अपने साथ-साथ गांव की अन्य महिलाओं व राज्य के विकास में महत्वपूर्ण योगदान देती हैं.

उन्होंने बताया कि पूरे बिहार राज्य के लिए भारतीय स्टेट बैंक का 1600 करोड़ से अधिक का ऋण-पोर्टफोलिओ है जिन्हें यहाँ के लगभग 18 लाख परिवारों, जो स्वयं सहायता समूहों से जुड़े हैं, के बीच बांटना है.

इस आयोजन में महाप्रबंधक-आंचलिक कार्यालय रंजन कुमार ने भी अपनी बात कही.

इस मौके पर दीपक कुमार अभिषेक, संजय कुमार साहा, शैलैश कुमार, चंद्र भूषण कुमार सहित भारतीय स्टेट बैंक, बाढ़ के अन्य पदाधिकारी एवं बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित थी.