तीसरे राजनीतिक नेता हुए कोरोना के शिकार

गया / पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | कोरोना संक्रमण के कहर ने अब अपना असर भी दिखाना शुरू कर दिया है. राज्य में हजारों लोगों को अपनी संक्रमण की चपेट में लेने के बाद कोरोना अब लोगों की जिंदगी भी तेजी से लेने लग गया है, जिसमें आम तो क्या खास लोग भी शामिल हैं. बिहार में अब कोरोना से नेताओं की मौत की सिलसिला चल पड़ा है.

गुरुवार को कोरोना संक्रमण से राज्य में तीसरे राजनीतिक व्यक्ति की मौत हो गई. गया जिला परिषद के पूर्व अध्यक्ष तथा जेडीयू नेता बिंदी यादव की मौत पटना के एक निजी अस्पताल में हो गई. बिंदेश्वरी प्रसाद उर्फ बिंदी यादव जेडीयू विधान पार्षद मनोरमा देवी के पति थे तथा गया जिले के मोहनपुर थानांतर्गत गणेशचक गांव के वाशिंदा थे. वे गया शहर के एपी कॉलोनी में पिछले लगभग 34 सालों से रह रहे थे.

खबरों के मुताबिक, कुछ दिनों पहले तबीयत खराब होने के कारण वो होम क्वारंटाइन में थे जिन्हें मंगलवार को स्थिति बिगड़ने पर गया स्थित मगध मेडिकल कोविड अस्पताल में भर्ती किया गया था. गुरुवार को सांस लेने में ज्यादा परेशानी होने पर डॉक्टरों ने उन्हें पटना रेफर कर दिया था जहां उन्हें बचाया नहीं जा सका.

बताते चलें कि लगातार तीन दिनों में कोरोना संक्रमण से मरने वाले नेताओं में बिंदी यादव बिहार के तीसरे नेता हैं. इससे पहले मंगलवार को दरभंगा से बीजेपी के विधान पार्षद सुनील कुमार सिंह और बुधवार को दानापुर के आरजेडी नेता राजकिशोर यादव की मौत हो गई थी.

लगातार विवादों से घिरे रहने वाले बिंदी यादव आरजेडी के टिकट से गुरुआ विधानसभा का चुनाव हार गये थे. फिर बाद में उन्होंने जेडीयू जॉइन कर लिया. बिंदी यादव को 2012 में आठ हजार कारतूस के साथ गिरफ्तार किया था. गया के एक व्यवसायी के बेटे की रोडरेज में गोली मारकर हत्या कर उम्रकैद की सजा काटने वाले रॉकी यादव के पिता बिंदी यादव का भी नाम इसमें काफी उछला था.

बिंदी यादव की मौत पट मुख्यमंत्री ने जताया शोक

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जेडीयू नेता बिंदी यादव के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है. उन्होंने उनकी पत्नी पत्नी एवं विधान पार्षद मनोरमा देवी से फोन पर बात कर उन्हें सांत्वना दी. मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिरशांति तथा उनके परिजनों को दुःख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है.