नड्डा द्वारा भाजपा के नए कार्यालय का उद्घाटन

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट)- आज शनिवार राजधानी पटना में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के द्वारा भाजपा के नए कार्यालय का उदघाटन किया गया. जेपी नड्डा ने कार्यालय में अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि “देश में करीब 2,500 राजनीतिक दल हैं. 59 दलों को चुनाव आयोग की मान्यता प्रदेश स्तर पर मिली है, सात दलों को राष्ट्रीय दल की मान्यता मिली है. वंशवाद पर निशाना साधते हुए जेपी नड्डा ने कहा कि “अन्य सभी पार्टियां वंशवाद के आधार पर चलती हैं, सिर्फ भाजपा ही ऐसी पार्टी है, जहां पार्टी ही परिवार है. कांग्रेस के पास कई बार पूर्ण बहुमत आया, लेकिन कभी ये अनुच्छेद 370 को हटाने की हिम्मत नहीं कर सके. आपने 303 सांसदों के साथ नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाया. एक ही झटके में उन्होंने धारा 370 धाराशाही कर दिया”.

राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा अनुच्छेद 370 और 35ए पर भी खुलकर बोले और कहा कि “पहले जम्मू-कश्मीर में वाल्मीकि का बेटा कोई सरकारी नौकरी ज्वाइन नहीं कर सकता था. अगर वो ज्वाइन सकता था तो सिर्फ सफाई कर्मचारी के तौर पर. अब अनुच्छेद 370 और 35A हटने के बाद अब वाल्मीकि का बेटा भी जज, डॉक्टर, अफसर और इंजीनियर बन सकेगा. वेस्ट पाकिस्तान से भारत आकर मनमोहन सिंह जी, लाल कृष्ण आडवाणी जी, आई के गुजराल जी प्रधानमंत्री और उप प्रधानमंत्री बने. लेकिन वहां से जम्मू कश्मीर में बसने वाला काउंसलर का चुनाव भी नहीं लड़ सकता था. ये अनुच्छेद 370 के कारण था”.

आगे नड्डा ने कहा “370 समाप्त होने के बाद, आजादी के बाद पहली बार जम्मू-कश्मीर में बीडीसी का चुनाव हुआ. 310 सीटों पर चुनाव हुए और भाजपा को 80 सीटें मिलीं, कांग्रेस को 1 सीट मिली. पुलवामा में 85 प्रतिशत, शोपिया में 86 प्रतिशत और श्रीनगर में 100 प्रतिशत वोट पड़े. शोपियां में भाजपा के प्रत्याशी को जीत मिली. जब हमने सती प्रथा, दहेज प्रथा, बाल विवाह को कानूनी रूप से बंद किया, हमने कानून से महिलाओं को संपत्ति पर बराबर अधिकार दिया. तब मुस्लिम महिलाओं पर तलवार की तरह लटकता तीन तलाक को हटाना भी जरूरी था. मोदी सरकार की इच्छा शक्ति के कारण ही तीन तलाक कानूनी तौर पर बैन हो सका”.

राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भाजपा के नए कार्यालय के उदघाटन के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनके पटना के एक अणे मार्ग स्थित आवास पर मुलाकात भी की. दोनों नेताओं ने बिहार में चल रही राजनीतिक गतिविधियों और आने वाले चुनाव जैसे विभिन्न मुद्दों पर भी चर्चा की.