म्यूजिक व्यवसायिक भवनों एवं होटलों में भी बनाए जा सकते हैं आइसोलेशन केंद्र

पटना (TBN रिपोर्ट) | बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा एक अणे मार्ग स्थित अपने आवास पर कोविड-19 महामारी के प्रभावी नियंत्रण, निगरानी एवं रोकथाम हेतु वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी विभागों के अपर मुख्य सचिव/ प्रधान सचिव/सचिव, सभी प्रमंडलीय आयुक्त, पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस उप महानिरीक्षक, सभी जिलों के जिलाधिकारी/ पुलिस अधीक्षक के साथ उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक आयोजित की गयी.

समीक्षा क्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जिलों के एसपी व जिलाधिकारियों के साथ कोरोना संक्रमण के अलावा विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करते हुए अहम निर्देश जारी किये और कहा कि लॉकडाउन के बाद से बड़ी तादात में बाहर से आ रहे लोगों की अधिक से अधिक संख्या में जांच कराई जाए. इसके साथ ही क्वारंटाइन केंद्रों पर आ रहे हैं नए लोगों को पुराने लोगों के साथ नहीं रखें. उनके रहने की व्यवस्था अलग की जाए. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जिलों में आवश्यक सुविधाओं के साथ आइसोलेशन सेंटर की संख्या बढ़ाए. सभी जिला अधिकारी इसका आंकलन कर शीघ्र आवश्यक कार्रवाई करें. आगे उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बड़ी संख्या में सरकारी भवनों का निर्माण किया गया है वैसे सरकारी भवन जो कार्यरत नहीं है. वह आइसोलेशन सेंटर बनाए जा सकते हैं. इसके अलावा म्यूजिक व्यवसायिक भवनों एवं होटलों में भी आइसोलेशन केंद्र बनाए जा सकते हैं.

नीतीश कुमार ने सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में बात करते हुए कहा कि  दुकानों और अन्य प्रतिष्ठानों में सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखें. कोरोना  संक्रमण से बचाव का यही सबसे बड़ा प्रभावी उपाय है. आगे उन्होंने कहा कि हमें हमेशा लोगों के हित की चिंता रहती है. लोगों को सुरक्षित रखने के लिए उनकी नियंत्रित निगरानी जरूरी है.

अन्य राज्यों से आये लोगों के बारे में बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को बाहर काफी कष्ट हुआ है बिहार के बाहर की अधिकांश निजी कंपनियों ने उनका ध्यान नहीं रखा. हमारा कर्तव्य है कि हम उनका ध्यान रखें. हमारी इच्छा है कि सभी को यही रोजगार मिले किसी को अकारण बाहर नहीं जाना पड़े.

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वीकृत राशन कार्ड की प्रिंटिंग में तेजी लाएं तथा राशन कार्ड का वितरण भी प्रारंभ करें. खाद आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग सभी जिलाधिकारियों से बात कर खाद्यान्न की उपलब्धता एवं वितरण संबंधी प्रावधानों से उन्हें स्पष्ट रूप से अवगत कराएं ताकि जरूरतमंदों को इसका लाभ मिल सके.

नीतीश कुमार ने कहा कि विदेश से जो लोग आ रहे हैं उनकी क्वारंटाइन की समुचित व्यवस्था की जाए. वैसे अधिकांश लोग बिहार के बाहर से वापस बिहार आ चुके हैं. अभी भी जो लोग बाहर के बाहर राज्यों में फंसे हुए हैं उन्हें एक-दो दिनों में वापस बुलाने हेतु संबंधित राज्य से समन्वय कर आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करें.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हम सिर्फ काम करने में विश्वास रखते हैं. जो लोगों के हित में हैं वह काम हम पूरी निष्ठा ईमानदारी एवं मेहनत के साथ कर रहे हैं.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा बुलाई गयी इस बैठक में उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, मुख्य सचिव दीपक कुमार, पुलिस म‌‌हानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय भी उपस्थित हैं. बैठक में उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, मुख्य सचिव दीपक कुमार, पुलिस म‌‌हानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय भी उपस्थित रहे.