इंडो नेपाल सीमा पर बढ़ी सरगर्मी

पुलिस और एसएसबी कर रही है साझा गश्ती,
संवेदनशील बॉर्डर लैंड पर विशेष नज़र – सेनानायक
भारतीय ज़मीन पर नेपाली अतिक्रमणकारियों की करतूत पर बढ़ी चौकसी,
वाल्मीकि टाईगर रिजर्व प्रशासन भी अलर्ट,
कई लोगों को थमाया जा चुका है नोटिस….।

बगहा/पश्चिम चंपारण (इमरान अज़ीज़, वरीय संवाददाता, पश्चिम चंपारण) | जिला के इंडो नेपाल बॉर्डर से है जहां बगहा दो प्रखंड के वाल्मीकिनगर से इंडो नेपाल सीमावर्ती इलाकों के भारतीय सीमाई क्षेत्रो में पुलिस प्रशासन व एसएसबी की साझा टीमों के द्वारा सघन गश्ती जा रही है. यह साझा गश्ती नेपाल से लगने वाली अतिसंवेदनशील सीमाओं पर की जा रही है.

थाना प्रभारी जयप्रकाश सिंह व एसएसबी के सहायक सेनानायक शम्भू चरण मंडल ने बताया कि दो दिन पहले सीतामढ़ी के समीप इंडो नेपाल सीमा पर नेपाल पुलिस के द्वारा भारतीय नागरिक की गोली मार कर हत्या कर दी थी, जिसमे दो लोग बुरी तरह से जख्मी भी हो गए थे. इसलिए नेपाल से लगे सीमावर्ती भारतीय क्षेत्रों में जॉइंट पेट्रोलिंग की जा रही है.

उन्होंने आगे बताया कि अतिसंवेदनशील सीमा चकदहवा, रोहुआ टोला व झंडू टोला से लगने वाले सीमाओं पर गश्तकर विशेष नज़र रखी जा रही है. एसएसबी बटालियन 21 के सहायक सेनानायक ने बताया कि देश मे लॉक डाउन के समय से ही एसएसबी के जवानों के द्वारा 24 घन्टे चौकसी व निगरानी की जा रही है. लेकिन सीतामढ़ी की घटना के मद्देनजर पुलिस प्रशासन के साथ मिलकर इन संवेदनशील सीमाई क्षेत्रो में विशेष साझा गठित टीम के द्वारा गश्त कर भारतीय नागरिकों में सुरक्षा की भावना को बढ़ाने की कोशिश की जा रही है.

बता दें की सीमाई क्षेत्रों में बसे दोनों ही तरफ के लोगों के बीच परिवारक सम्बंध होने की वजह से खुले सीमाई रास्ते से एक दूसरे देश मे आने जाने की कोशिश की जाती है जिससे विवाद उतपन्न हो जाता है. इसी के मद्देनजर सख्त रोक लगाई गई है.

नेपाल में अभी भी लॉक डाउन चल रहा है जिससे सीमाई गांवों में बसे लोगों की मुश्किलें बढ़ गई है. वैसे भी विवादित सुस्ता अतिसंवेदनशील माना जाता है. यहां की एक छोटी सी घटना की आंच काठमांडू व दिल्ली तक महसूस की जाती है. इसलिए प्रशासन किसी भी तरह का जोखिम उठाने के मूड में नहीं है.