कौन कौन हैं बिहार के ग्रीन, रेड और ऑरेंज ज़ोन

पटना (TBN रिपोर्ट) | सोमवार 6ठा दिन है कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन 2.0 का. बिहार के जिलों में लॉकडाउन में वहां कोरोना संक्रमण के फैलाव की स्थिति को देखते हुए छूट दी गई है. जहां 37 जिलों में लॉकडाउन में थोड़ी छूट है, वहीं सीवान में छूट नहीं मिली क्योंकि यह रेड जोन में है.

दरअसल कोरोना वायरस (Covid-19) के कारण पूरे प्रदेश के जिलों को संक्रमण के फैलाव को देखते हुए तीन जोन में बांटा गया है. उसी के मुताबिक वहां छूट भी दी गई है या फिर नहीं दी गई है. देखते हैं कौन सा जिला किस ज़ोन में है और क्यों है उस ज़ोन में.

रेड जोन– इसमें केवल सीवान जिले को रखा गया है क्योंकि यह कोरोना हॉटस्पॉट क्षेत्र घोषित है. वहां सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमण के मरीज मिले हैं. यहां कोरोना संक्रमितों की संख्या बिहार में सबसे अधिक 29 है.

ऑरेंज जोन – इस ज़ोन में 13 जिलों को रखा गया है – मुंगेर, बेगूसराय, नालंदा, पटना, गया, गोपालगंज, नवादा, बक्सर, सारण, लखीसराय, भागलपुर, आरा और वैशाली. यहां हॉटस्पॉट क्षेत्र को छोड़ अन्य इलाकों में छूट मिली है. हालांकि राजधानी पटना के सुल्तानगंज में 15 और खाजपुरा में 18 अप्रैल को मरीज मिलने से ये इलाके हॉटस्पॉट हैं, इसलिए यहां सबकुछ बंद है.

ग्रीन जोन – इस ज़ोन के जिलों में कोई संक्रमित नहीं है. इसमें 24 जिले हैं और वे हैं – पं. चंपारण, पू. चंपारण, सीतामढ़ी, शिवहर, मुजफ्फरपुर, मधुबनी, दरभंगा, समस्तीपुर, सुपौल, मधेपुरा, सहरसा, खगड़िया, अररिया, पूर्णिया, किशनगंज, कटिहार, बांका, जमुई, शेखपुरा, जहानाबाद, अरवल, औरंगाबाद, रोहतास और कैमूर.