जनसंख्या नियंत्रण, ओवैसी और सीएए पर बोले गिरिराज

मधुबनी (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट)- मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह हमेशा से ही अपने विवादित बयानों से चर्चा में रहते हैं. इन दिनों गिरिराज सिंह जनसंख्या नियंत्रण कानून पर दिए अपने विवादस्पद बयानों से खूब सुर्खियां बटोर रहे हैं. बिहार के मधुबनी में महाशिवरात्रि के मौके पर एकादश रुद्र स्थान, मंगरौनी में जल अभिषेक करने पहुंचे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने एक बार फिर से जनसंख्या नियंत्रण, ओवैसी और नागरिकता संशोधन कानून (CAA) जैसे मुद्दों पर विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा है कि “देश को जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की जरूरत है. देश की आबादी इसी तरह बढ़ती रही तो हमलोग खाएंगे क्या? विश्व की 20 प्रतिशत जनसंख्या भारत में है. लेकिन, हमारे पास मात्र दो प्रतिशत भूमि है. यहां जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कोई कानून भी नहीं है. जल्द से जल्द जनसंख्या नियंत्रण कानून लाने की जरूरत है, ताकि देश को प्रगति की राह पर बढ़ाया जा सके. हमारे पास संसाधन सीमित हैं. 1978 में भारत का जीडीपी चीन से अधिक था. चीन ने आबादी को लेकर कड़ा कानून बनाया. आज उसकी जीडीपी हमसे अधिक है. उसके पास जमीन व संसाधन भी अधिक है. हमें भी जनसंख्या नियंत्रण कानून लाना होगा. लेकिन, मुझे दुख है कि वोट के सौदागर उसे भी रोकेंगे”.

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) पर भी गिरिराज सिंह खुलकर बोले और कहा कि “सीएए से किसी की नागरिकता नहीं जाती है. हां, इससे पाकिस्तानी और रोहिंग्या को परेशानी होगी. जहां तक इसमें मुसलमानों को शामिल नहीं करने की बात है तो किसी भी मुसलमान का पाकिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न नहीं हुआ है. मधुबनी में 27 जगह शाहीन बाग की तर्ज पर धरना दिया जा रहा है. ये क्या साबित करने की कोशिश है? सरजील इमाम भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाना चाहता है. जिन्ना का जिन्न चढ़ गया है. उन्होंने कहा कि ओवैसी का भाई 15 करोड़ बनाम 100 करोड़ की बात कहता है. मंच से पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए जाते हैं. क्या भारत में गृह युद्ध होगा? कहा कि खुद ओवैसी सदन में राष्ट्रीय गीत में खड़े नहीं हुए. जो लोग अफजल को हीरो मानते हैं, उनसे भारत डरनेवाला नहीं है.

गिरिराज सिंह ने गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि “विपक्ष मुझे गालियां देता है. मुझे परवाह नहीं है. जब जनता गाली देगी तो मैं चुप हो जाउंगा. ये विपक्ष के साथी जो वोट बैंक की राजनीति करते हैं, मैं उन्हें बस एक ही बात कहना चाहता हूं कि भारत को हमेशा जयचंदों से खतरा रहा है”.

पिछले दिनों यूपी के सहारनपुर में एक कार्यक्रम में गिरिराज सिंह ने कहा था कि “जनसंख्या नियंत्रण पर ऐसा कानून आना चाहिए कि जो ना माने, उसका वोटिंग का अधिकार खत्म कर देना चाहिए. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ऐसे लोगों पर आर्थिक और कानूनी प्रतिबंध भी लगाना चाहिए”.

Advertisements