कोरोना के डर से डॉक्टर ने नहीं किया इलाज, लड़के की हुई मौत

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | सदर हॉस्पिटल में डॉक्टर ने कोरोना के डर से एक 16 साल के लड़के का इलाज नहीं किया. इलाज के अभाव में उसकी मौत हो गई. जिसके बाद नाराज परिजनों ने जमकर हंगामा किया. यह घटना सदर हॉस्पिटल की है.

हाथ जोड़ने के बाद भी नहीं किया इलाज

लड़के को सर्दी, तेज बुखार और सांस लेने में परेशानी हो रही थी. उसके बाद परिजन उसे सदर हॉस्पिटल लेकर आए, लेकिन डॉक्टरों को जैसे ही पता चला कोरोना संदिग्ध केस है तो इलाज करने से इंकार कर दिया. डॉक्टर और नर्स के आगे परिजन हाथ जोड़कर विनती करते रहे, लेकिन इसके बाद भी डॉक्टरों ने इलाज नहीं किया. जिससे लड़के की मौत हो गई.

नया बाजार के रहने वाले विश्वनाथ प्रसाद के बेटे मोहन कुमार की जब तबीयत खराब हुई तो परिजन हॉस्पिटल लेकर इस उम्मीद के साथ पहुंचे थे कि उनका लड़का ठीक हो जाएगा. लेकिन डॉक्टरों की लापरवाही ने उनके बेटे की जान ले ली. बिहार में कोरोना मरीजों के इलाज को लेकर सरकार रोज बड़े-बड़े दावे कर रही है. लेकिन जो संदिग्ध है उनकी इलाज तो दूर जांच तक नहीं हो पा रही है. हर रोज बिहार में कई लोगों की इलाज के अभाव में मौत हो रही है.

Advertisements