सुप्रीम ने कोर्ट कहा – बाबा वैद्यनाथ के दर्शन कर सकेंगे भक़्त

देवघर (TBN – The Bihar Now डेस्क) | सावन का पावन महीना चल रहा है. हर साल महादेव के मंदिरों में भक्तों का ताँता लग जाया करता था. लेकिन इस कोरोना कल में श्रद्धालु देवघर नहीं जा पाए हैं. इसी बीच अब ख़बर यह आई है कि सीमित संख्या में श्रद्धालु बाबा वैद्यनाथ के दर्शन कर सकेंगे. सुप्रीम कोर्ट ने सांसद निशिकांत दुबे की याचिक पर सुनवाई करते हुए कहा कि मंदिर में ई-दर्शन की व्यवस्था की भक्तों की उत्कंठा शांत नहीं होती है. इस प्रकार का दर्शन कोई दर्शन नहीं होता है

इसी के साथ सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से सवाल किया कि कोरोना संकट काल में भीड़ न लगे, इसकी वजह से भक्तों के लिए मंदिर में सीमित संख्या में दर्शन करने की व्यवस्था क्यों नहीं की जा रही है.

दरअसल, झारखंड हाई कोर्ट ने बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे को श्रावणी मेला के लिए अनुमति नहीं दी थी. ये मेला बैद्यनाथ मंदिर में हर साल आयोजित किया जाता था लेकिन इस साल कोरोना की वजह से नहीं हो पाया. बीजेपी सांसद ने बासुकीनाथ मंदिर को भी दर्शन के लिए खोलने की अपील की थी. निशीकांत दुबे ने हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है.

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस अरुण मिश्रा ने कहा कि ई-दर्शन को दर्शन नहीं कहा जा सकता है. उन्होंने कहा कि सीमित संख्या में और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का सख्ती से पालन कराते हुए लोगों को मंदिर में दर्शन करने की इजाजत दी जा सकती है.

बता दें कि बाबा बैद्यनाथ मंदिर में भक्तों को अब तक केवल ई-दर्शन के जरिए दर्शन करने की इजाजत थी.

Advertisements