डॉक्टरों ने बचाया बच्चे को, पेड़ से गिर उसका लीवर और पैंक्रियाज हो गया था डैमेज

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| राजधानी पटना में एक 10 वर्षीय मासूम की जान डॉक्टरों द्वारा बचाई गई है. बच्चे की जान तीन मेजर ऑपरेशन करके बचाई गई. पेड़ से गिरने के बाद उसका लीवर और पैंक्रियाज डैमेज हो गया था.

बात गोपालगंज की है जहां 10 वर्षीय सोनू अपने गाँव में जामुन तोड़ने के दौरान पेड़ से गिर गया था. पेड़ से गिरते समय वह एक अमरूद की पेड़ से भी बुरी तरह टकरा गया था. वह जमीन पर पेट के बल गिरा था जिस कारण उसकी हालत काफी नाजुक हो गई थी. गोपालगंज के अस्पताल में डॉक्टरों ने जवाब दे दिया था.

उसके बाद उसके परिजन घायल सोनू को डॉ ए के गुप्ता के नर्सिंग होम ले गए. वहां डॉक्टर ने उसकी हालत देखकर उसे पटना रेफ़र कर दिया. राजधानी के मेडिमैक्स हॉस्पिटल में सोनू को भर्ती करवाया गया और फिर इमर्जेंसी में उसके ऑपरेशन की तैयारी की गई.

जान बचाना था मुश्किल

मेडीमैक्स हॉस्पिटल में ऑपरेशन के दौरान जब उसका पेट खोला गया तो डॉक्टर हैरान रह गए. हॉस्पिटल के सीनियर गैस्ट्रो सर्जन डॉ संजीव कुमार के अनुसार, सोनू के पेट में लगभग ढाई किलो खून भरा हुआ था. कारण था, चोट से उसकी छोटी आंत फट गई थी. साथ ही उसका लीवर और पैंक्रियाज भी डैमेज हो चुका था.

डॉक्टरों ने हार नहीं मानते हुए घायल सोनू का तीन मेजर ऑपरेशन किया और उसकी जान बचा ली. डॉ संजीव ने बताया कि ऑपरेशन से पहले बच्चे का सीटी स्कैन सहित कई टेस्ट करवाए गए थे. लेकिन उस वक्त डॉक्टरों को सोनू के इतने गंभीर होने का अंदाजा नहीं था.

आप यह भी पढ़ें – “बिहारी गुंडा टिप्पणी से दुखी हूं” – तेजस्वी यादव

फिर करीब तीन घंटों से अधिक समय तक डॉक्टरों द्वारा घायल बच्चे का तीन ऑपरेशन किया गया. बच्चे के पेट के अंदर दो जगह से फटी हुई छोटी आंत से खून रिस रहा था जिसे सिल दिया गया. फिर उसके लीवर और पैंक्रियाज को रिपेयर किया गया.

बच्चा अब है एकदम स्वस्थ

डॉक्टर के मुताबिक, ऑपरेशन के बाद 3 यूनिट खून चढ़ाया गया जिससे उस बच्चे की जान बच गई और अब वह पूर्ण रूप से स्वस्थ है. वह मजे से खा-पी रहा है. डॉ संजीव ने कहा कि आज तक उन्हें किसी भी बच्चे में ऐसा मामला देखने को नहीं मिला.

बताया जा रहा है कि घायल सोनू का परिवार बहुत गरीब है. इस कारण उसके लिए बड़े शहर में इलाज कराना मुश्किल था. लेकिन पटना डॉक्टरों ने तुरंत घायल सोनू का ऑपरेशन कर जान बचा लिया है.