सैकड़ों ज़रूरतमंद परिवारों को वितरण किया राशन

Distribution of ration to hundreds of needy families

छपरा (TBN रिपोर्टर) | देशभर में कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए सुरक्षा की दृष्टि से लॉकडाउन घोषित करने के बाद से गरीबों और असहाय लोगों के सामने तमाम परेशानियां खड़ी हो गयीं हैं. यहाँ तक कि उनके खाने तक के लाले पड़ गए हैं. हालाँकि गरीबों और जरूरतमंदों की सहायता के लिए सामाजिक संस्थाओं , राजनीतिक दलों और सरकारी विभागों ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया है. इसी क्रम में ज़िला विधिक सेवा प्राधिकार सारण के सहयोग से हाजी आफताब आलम खान द्वारा मुबारकपुर गाँव में सैकड़ों ज़रूरतमंद परिवारों के बीच सूखा राशन के पैकेट वितरण किये गए.

राशन वितरण के दौरान हाजी आफताब आलम खान ने कहा कि देश में लॉकडाउन की पाबंदी लगभग हटा ली गई है. बाज़ारों और सड़कों पर भीड़ उमड़ती नज़र आ रही है .  जिसके बाद कोरोना मरीज़ों की संख्या में काफ़ी तेज़ी से वृद्धि हो रही है.  देश में 2 लाख से उपर कोरोना मरीज़ों की संख्या हो चुकी है, जो काफ़ी घातक है. ऐसे में सरकार के साथ-साथ आम नागरिकों कि भी ज़िम्मेवारी है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए काफ़ी गंभीरता के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और बिना मास्क लगायें घर से बाहर नहीं निकलें .

हाजी आफताब आलम खान ने कहा कि अपने आस-पास के लोगों को कोरोना से बचाव के प्रति जागरूक करें. मास्क, सैनिटाइजर और सोशल डिस्टेंसिंग काे सभी लोगों को अपने व्यवहार में अनिवार्य रूप से शामिल करना पड़ेगा. काेराेना से अपनी सुरक्षा के लिए घबराए बिना आत्मानुशासन, साफ-सफाई और सोशल डिस्टेंसिंग को सर्वोत्तम उपाय मानें. काेराेना का खतरा अभी शीघ्र खत्म हाेनेवाला नहीं है. इसे देखते हुए अब बचाव के इन्हीं सर्वोत्तम उपायों के साथ जिंदगी जीने की आवश्यकता है.

ज़िला विधिक सेवा प्राधिकार सारण के सहयोग से राशन वितरण कार्य में मोहम्मद मुहीद, बाबूजान, परवेज़ आलम खान मुख्य रूप से शामिल हुए थे. कोरोना की ऐसी विषम परिस्तिथियों में मानव सेवा के उद्देश्य से किया गया यह कार्य वास्तव में प्रशंसनीय है.

Advertisements