DGP बाँट रहे झुग्गी-झोपड़ियों में खाने का सामान

पटना (TBN रिपोर्ट) :- कोरोना संकट के समय गरीबों और जरूरतमंदों की मदद के लिए नीतीश सरकार के साथ राजनीतिक दल, समाजसेवी संस्थाएं, स्वास्थ्य विभाग और पुलिस प्रशासन भी आगे आया है.

पिछले दिनों कोरोना आपदा से लड़ने के लिए डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय की अपील के बाद बिहार पुलिस सेवा के पदाधिकारियों, आईपीएस अफसरों ने मुख्यमंत्री राहत कोष में लगभग 10 लाख रुपये की राशि भी दान की है.

इसके साथ ही गरीबों और जरूरतमंदों की मदद के लिए बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय साधारण कपड़े में ही अचानक पटना के एक झुग्गी झोपड़ी वाले इलाके में पहुंचकर गरीबों से मिल रहे थे और उनकी समस्याओं को सुन रहे थे. हालंकि डीजीपी को लोग साधारण कपड़ों में होने की वजह से पहचान नहीं पा रहे थे.

इस बारे में डीजीपी ने कहा कि, “झुग्गी झोपड़ी के लोगों को लॉकडाउन नियमों का सख्ती से पालन करता देख बहुत खुशी हुई. सबने अपनी अपनी जरूरत के सामान लिखवाए. इन 109 परिवार के करीब 500 सदस्यों को लॉकडाउन तक सुबह-शाम खाने की व्यवस्था कराएंगे.

उन्होंने बताया कि इसके अलावा इनकी कुछ अन्य ज़रूरत की चीजों का भी प्रबंध करना है. हर परिवार के लिए चावल, दाल, आटा, तेल, मसाला और नमक जुटाना है. हमारे व्यक्तिगत कुछ मित्र इन चीजों को जुटाने में मेरा सहयोग कर रहे हैं. मैं उनको भी धन्यवाद देता हूं. इन झुग्गी झोपड़ी के अपने प्यारे भाई बहनों को भी मेरा सलाम जो बहुत धीरज और अनुशासन के साथ लॉकडाउन के नियमों का पालन कर रहे हैं”.

बता दें कि इससे पहले भी डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने झुग्गी झोपड़ी में जाकर गरीबों के बीच खाने के सामान बांटे थे.