इस अस्पताल में चल रहा है डेप्युटेशन का खेल

पंडारक / बाढ़ (अखिलेश्वर कु सिन्हा – The Bihar Now रिपोर्ट)| बाढ़ अनुमंडल के पंडारक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में इन दिनों डेप्युटेशन का बहुत बड़ा खेल चल रहा है. यहां के हेल्थ मैनेजर कहीं और ही बैठकर मोबाइल से इस अस्पताल का काम करते हैं.

बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा कहा गया था कि कोरोना काल में जिसकी जहां बहाली हुई है, वह वहीं अपनी ड्यूटी देगा. पर बाढ़ अनुमंडल के पंडारक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में ठीक इसका उल्टा देखने को मिल रहा है.

पता चला है कि इस अस्पताल के हेल्थ मैनेजर अपना डेप्युटेशन पटना में करवा कर वहीं से ही इस स्वास्थ्य केंद्र को अपनी सेवा दे रहे हैं. वे अपना सभी काम मोबाइल पर ही करते हैं.

बता दें कि पंडारक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में हेल्थ मैनेजर के नहीं रहने से अस्पताल का बहुत काम बाधित रहता है. बाढ़ अनुमंडल के पंडारक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत मोहम्मद तारिक ने बताया कि यहां एक महिला डॉक्टर हैं जो दो दिन पर एक बार आती हैं. और तो और, एक और डॉक्टर ने यहां ज्वाइन किया, पर अभी तक दुबारा नहीं आई हैं.

आप इस खबर को भी पढ़ें‘यास’ ने रुलाया किसानों को बदहाली के आंसू, लाखों का प्याज बर्बाद

इस कारण यहां कुव्यवस्था व्याप्त हो गई है जिससे साधारण मरीज की भी चिकित्सा में आम लोगों को परेशानी होती है. कुल मिलाकर यहां कोरोना मरीज की चिकित्सा इंतजाम राम भरोसे है.

बता दें कि इस हेल्थ मैनेजर के जिम्मे बाढ़ अनुमंडल अस्पताल भी है. इसी कारण इस अस्पताल का काम भी मोबाईल पर ही निपटाया जा रहा है.

बाढ़ अनुमंडल के पंडारक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एवं बाढ़ में डेप्युटेशन का यह खेल लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है. देखना है कि कब तक ये दोनों अस्पताल डेप्युटेशन के खेल से मुक्त होते हैं और यहां के काम सुचारु रूप से चल पाते हैं.