दवा व्यवसाइयों के तीन दिनों का राज्यव्यापी बन्द बुधवार से शुरू

पटना (TBN रिपोर्टर) | राजधानी पटना में बिहार केमिस्ट एंड ड्रजिस्ट एसोसिएशन के आवाहन पर तीन दिनों की राज्यव्यापी बन्दी आज से शुरू हुई. पटना के गोविंद मित्रा रोड के महिमा पैलेस के प्रांगण से 22, 23 और 24 जनवरी को पूरे राज्य की दवा दुकानें बंद रखने का ऐलान किया गया है. बिहार केमिस्ट एंड ड्रजिस्ट एसोसिएशन के नेता अर्जुन यादव नेता ने कहा कि इस बंदी में आपातकालीन (इमरजेंसी) सेवा को मुक्त रखा गया है. बिहार केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन ने निर्णय लिया है कि तीन दिवसीय हड़ताल के दौरान निजी एवं सरकारी अस्पताल परिसर की दवा दुकानें खुली रहेंगी. बुधवार को हड़ताल के पहला दिन इसका असर सुबह से ही दिखने लगा है.

जैसा कि मालूम है बिहार केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन ने अपनी मांगों के समर्थन में 3 दिनों तक इस बंदी को बुलाने का आवाहन किया है. हड़ताल की वजह है दवा दुकानदारों द्वारा फार्मासिस्ट की नियुक्ति में छूट की मांग. जबकि, बिहार सरकार की तरफ से अब हर दवा दुकान में एक फार्मासिस्ट की नियुक्ति अनिवार्य कर दी है. दवा दुकानदारों का कहना है कि फार्मासिस्ट के नाम पर उनका शोषण किया जा रहा है. और तो और, औषधि निरीक्षक के द्वारा फार्मासिस्ट के नाम पर दवा दुकानदारों का आर्थिक रूप से दोहन क्या जा रहा है. इतना ही नहीं बल्कि उनकी यह भी शिकायत है कि  दवा दुकानों में फार्मासिस्ट की उपस्थिति और विभागीय निरीक्षण के दौरान तकनीकी गलतियों के नाम पर दवा दुकानदारों को प्रताड़ित किया जाता है.

https://m.youtube.com/watch?feature=youtu.be&v=UTcIOhP_NV4

Leave a Reply

Your email address will not be published.