सभी सुविधाओं से लैस दानापुर रेल मंडल अस्पताल : DRM

पटना (TBN रिपोर्ट) :- कोरोना वायरस संक्रमण के आंकड़ों को बढ़ता देख इलाज़ के लिए पूर्व मध्य रेल का दानापुर रेल मंडल ने  80 बेड का आइसोलेशन अस्पताल और 156 बेड का कोरोंटाईन होम तैयार किया गया है. इस रेलवे अस्पताल में इमरजेंसी और ओपीडी की सुविधाएं भी शुरू कर दी गयी हैं. वहीं रेलवे ने अपने कर्मचारियों के लिए फोन पर भी डॉक्टरों की सेवा उपलब्ध करवायी है.

मंडल के डीआरएम सुनील कुमार ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि, “विश्व स्वास्थ संगठन,रेलवे बोर्ड,रेलमंत्री पीयूष गोयल के साथ-साथ पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक एलसी त्रिवेदी के दिशा निर्देश पर ऑक्सीजन मास्क से युक्त सभी  80 बेड वाले दानापुर रेल मंडल अस्पताल को आइसोलेशन कर कोरोना अस्पताल के रूप में पूरी तरह से तैयार किया गया है . इस के आलावा मंडल मुख्यालय स्थित लखनीबीधा में मधु बिहार रेल बिहार में 156 बेड का कोरोंटाईन होम तैयार किया गया है .इस मंडल में कोरोना वायरस से निपटने के कई महत्वपूर्ण कदम भी उठाये गए हैं . अस्पताल के मौजूद मेडिकलकर्मियों के आलावा,3 महीने के लिए संविदा पर कई विशेषग्य डाक्टरों,नर्सों सहित अन्य वेंटिलेटर,एक्सरे,लैब टेक्नीशियन की बहाली की जा रही है”.

सुनील कुमार ने बताया कि, “पहली बार इस जोन में खास कर लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के कारण घरों में बंद जरुरत मंद कर्मचारियों और उस के आश्रितों को किसी तरह की परेशानियों का सामना न करना पड़े ,इस के लिए मेडिकल सलाह के लिए ऑन लाईन सुविधा भी शुरू किया गया है . इस पर रेलवे कर्मचारी और उस के आश्रित अपने मोबाईल से बिना घर से निकले ,घर बैठे , रेलवे के डाक्टरों के दिए गए मोबाईल फोन पर सिर्फ मेडिकल सलाह ले सकते हैं . इस के आलावा इस मंडल अस्पताल की इमरजेंसी फोन सेवा और एक अतिरिक्त एम्बुलेंस सेवा अलग से उपलब्ध है . मंडल के  सभी 15 हजार कर्मचारियों के स्वास्थ्य सुरक्षा को ध्यान में रख कर स्वास्थ्य सुरक्षा किट दिया जा रहा है . दानापुर मंडल की बड़ी उपलब्धि है कि , मंडल के कर्मचारियों के द्वारा खास कर मेडिकल सेवाकर्मियों के लिए जरुरी पीपीई तैयार किया गया है,जिसे जांच के लिए भेजा गया है  . अभी तक ,4295 मास्क, 8000 लीटर कीटनाशक और 220 लीटर सेनेटाइजर तैयार किया गया है. पूरी तरह से साफ-सफ़ाई के साथ निगरानी में आईआरसीटीसी  से तैयार भोजन, प्रतिदिन रेलवे सुरक्षा बालों के हाथों असहाय और जरूरत मंद लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए कराया जाता है. लॉक डाउन में पैसेंजर गड़ियां बंद है पर जरूरत मंद लोगों को खाने-पीने की चीजों की कमी नहीं हो , इस के लिए निरंतर मालगाड़ियों और पार्सल से राहत सामग्रियों को ढोया जा रहा हैं”.

दानापुर रेल मंडल अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ.आरके वर्मा ने कोरोना को लेकर अस्पताल में की गयी तैयारियों के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि, “महाप्रबंधक एलसी त्रिवेदी और मंडल के डीआरएम सुनील कुमार के मार्गदर्शन में ,ऑक्सीजन मास्क से जुड़े सभी 80 बेड वाले इस अस्पताल को कोरोना अस्पताल के रूप में तैयार किया गया है . इस में 18 वेंटिलेटर और एक बड़ा मेकनिकल वेंटिलेटर अभी उपलब्ध है. इस के अलावा 12 वेंटिलेटर के लिए ऑडर किया गया है. 15 बेड के साथ कार्डियो मोनेटर और ऑक्सीजन मास्क लगा हुआ है. 300 पीपीई उपलब्ध है,1600 के लिए ऑडर दिया गया है. बिना शरीर को स्पर्श किये शरीर के तापमान की जांच करने वाला  5 थर्मल थर्मामीटर ,3000 सर्जिकल मास्क, 95- मास्क 850 उपलब्ध है और ऑडर भी दिया गया है. इस में भर्ती रोगियों का बेड और तकिया रेक्सीन का बनाया हुआ है ,ताकि की साफ़-सफाई और सेनेटाईज आसानी से किया जा सके. बेड सीट ,खाने-पीने के जो भी प्लेट,गलास है ,सभी डिपोजल है . इसका इस्तेमाल दोबारा नहीं होगा . भोजन-पानी के लिए कैंटीन की व्यवस्था किया गया है . इस अभी से निकले कचरा गंदगी आदि को नष्ट करने के लिए पटना आईजीआईएमएस से सहयोग लिया जा रहा है.  संक्रमण रोग कोरोना को ध्यान में रख कर साफ़-सफाई  सभी तरह के कार्यों में खास कर सोशल डिस्टेंसिंग का हर स्तर पर ध्यान रखा जाता है. अस्पताल के चिकित्सकों आदि के लिए स्थानीय ऑफिसर्स कल्ब में आराम करने के लिए कमरा उपलब्ध कराया गयाहै . इसकी निगरानी मंडल अस्पताल के डॉ. बीके रजक को सौंपा गया है”.

संक्रमण वाले  कोरोना रोगियों को ध्यान में रख कर ,इस मंडल अस्पताल में फिलहाल अन्य रोगों से पीड़ित रोगियों को इनडोर में भर्ती नहीं किया जा रहा है . उसे देखने के बाद पटना जंक्शन स्थित सेंट्रल रेलवे अस्पताल या फिर रोगों की गंभीरता को ध्यान में रख कर रेलवे से रजिस्टर्ड पटना के अन्य अस्पतालों में रेफर किया जाता है . पहले की तरह दानापुर रेल मंडल अस्पताल में रेल कर्मचारियों और उसके आश्रितों के लिए इमर्जेसी सेवा के साथ महिला और पुरुष के लिए दो अलग-अलग ओपीडी सेवा के सहित , सुबह 9 बजे से संध्या 5 बजे तक दवा काउंटर भी खुला हुआ रहता है.

मेडिकल सलाह के लिए ऑन लाईन सुविधा भी शुरू किया गया है. इस में इस अस्पताल के रेलवे डॉ.पीके मिश्र ( एसीएमएस ) मोब-9771449506 पर संध्या 5 से 6 संध्या  बजे . डॉ.संजीत कुमार ( डीएमओ ),मोब. 9771449508 पर संध्या 7 बजे से 8 संध्या बजे और डॉ.आर यू हक़ ( डीएमओ ),मोब. 9771449518

सुबह 10 बजे से 11 बजे तक ,मेडिकल सलाह देंगे . यह ऑन लाईन सेवा एक घंटा प्रति दिन जरुरत मंद रेलकर्मचारियों और उनके आश्रितों को दी जा रही है . अन्य इमर्जेसी सेवा 73690 24938 और रेलवे फोन पर मोब से 06115  282861 पर भी उपलब्ध है .