हल्दी लगवा जाना था बारात, पहुँचे आइसोलेशन सेंटर

रोहतास (धनंजय तिवारी) | जाना था लेकर बारात, पहुँच गए आइसलैशन सेंटर. जी हां, ये खबर है रोहतास जिला की जहां कोरोना पाज़िटिव पाये जाने के बाद एक 28 वर्षीय युवक को उसकी शादी के दिन ही उसे आइसोलेशन सेंटर (Isolation center) भेज दिया गया.

जिला के राजपुर गांव में मुंबई से लौटे 28 वर्षीय एक युवक की शुक्रवार को शादी थी. कुछ दिनों पहले ही वह मुंबई से लौटने के बाद क्वॉरेंटाइन सेंटर से वापस अपने घर आया था. लेकिन शुक्रवार सुबह स्वास्थ्य विभाग द्वारा उसे कोरोना संक्रमित पाया गया. सबसे बड़ी बात है कि इसी दिन युवक की शादी भी थी तथा उसे बारात लेकर भोजपुर के एक गांव जाना था.

स्वास्थ्य विभाग द्वारा युवक को कोरोना पाज़िटिव पाए जाने के बाद विभाग की टीम पुलिस लेकर शुक्रवार कु गांव पहुंची. वह युवक अपनी शादी की रस्मों में व्यस्त था तथा अपने शरीर पर हल्दी लगवा रहा था.

स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों ने दूल्हे को यह कहकर आइसलैशन सेंटर ले जाने की कोशिश की कि उसे कोरोना संक्रमित पाया गया है. लेकिन युवक और उसके परिजन इसको मानने से इनकार करते रहें. फिर स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों को काफी मशक्कत के बाद युवक को उसके घर से लाने में सफलता मिली. उसके बाद दूल्हे राजा को विशेष एंबुलेंस द्वारा डिहरी के जमुहार स्थित नारायण मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में बने आइसोलेशन सेंटर में भर्ती करा दिया गया.

शुक्रवार को थी युवक की शादी

खबरों के मुताबिक वह युवक मुंबई में किसी फैक्ट्री में मजदूरी करता था, लेकिन लॉकडाउन के कारण फैक्ट्री बंद हो गई. इसके बाद वह युवक पूरी तरह से बेरोजगार हो गया. वह किसी तरह मुंबई से अपने गांव लौट आया. घर लौटने से युवक 14 दिनों तक नोखा के एक हाई स्कूल में बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर में रहा.

क्वॉरेंटाइन सेंटर से घर लौटने के बाद उस बेरोजगार युवक के परिजनों ने उसकी शादी भोजपुर जिले के एक गांव में तय कर दी. शुक्रवार 26 जून की शाम युवक के घरवाले बारात ले जाने की तैयारी में लगे थे. लेकिन इसी बीच स्वास्थ्य विभाग की टीम वहां पहुँच गई तथा दूल्हे को अपने साथ लेकर आइसोलेशन सेंटर में भर्ती करा दिया.

Advertisements