कोरोना का असर परिवहन व्य’वसाय पर

मुजफ्फरपुर (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) | बिहार में कोरोना के खौ’फ के चलते स्कूल, कॉलेज, पार्क आदि के 31 मार्च तक बंद हो जाने का असर अब परिवहन व्य’वसाय पर भी पड़ना शुरू हो गया है. कोरोना का डर लोगों के दिलो दिमाग पर ऐसा असर कर गया है कि लोग कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए सफर करने से भी कतरा रहे हैं. कोरोना के खौफ के चलते बसों में जाने वाले यात्रियों की संख्या में तेजी से कमी आयी है. इसका एक नज़ारा हाल ही में बैरिया के बस स्टाप पर देखने को मिला. लोगों से भरी रहने वाली बसों में 10 से 12 यात्री ही सफर कर रहे हैं और बस ड्राइवर को अधिकतर सीट खाली रहने के बावजूद भी सफर करना पड़ रहा है जिसका सीधा असर परिवहन व्यवसाय पर पड़ रहा है.

एक तरफ कोरोना को लेकर सरकार के द्वारा जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है. सभी नागरिकों को कोरोना से बचाव के उपाय के बारे में लगातार निर्देश जारी किये जा रहे हैं इसके बावजूद भी बैरिया के बस स्टॉप पर सुरक्षा और बचाव के कोई इंतज़ाम देखने को नहीं मिल रहे जबकि यहाँ दिल्ली समेत विभिन्न राज्यों से यात्री आते हैं. कोरोना के खौफ के चलते हालात ऐसे हो गए हैं कि लोग दिल्ली से आने वाली बसों को लेकर आशंकित हैं. लोगों में डर है कि कहीं बाहर से आने वाली इन बसों से सफर करने वाले यात्रियों में कोई कोरोना वायरस से पीड़ित यात्री न हो वैसे इन बसों में अधिकतर लोग मास्क लगाए दिखते हैं. हालांकि पहले की अपेक्षा अब दिल्ली की बसों में भी यात्रियों की संख्या बहुत कम हो चुकी है.

कोरोना का सबसे ज्यादा असर लंबी दूरी की बसों में पड़ रहा है. बस संचालकों के अनुसार  पटना, रांची, टाटा, सिलीगुड़ी समेत अन्य जगहों की बसों में करीब 50 से 60 फीसद यात्री कम हो गए हैं. कोरोना से बचाव को लेकर बिहार राज्य पथ परिवहन निगम सतर्क हो चुका है. परिवहन निगम के द्वारा नेपाल से आने-जाने वाली बसों के यात्रियों की स्क्रीनिंग करने की तैयारी शुरू कर दी गयी है

राज्य पथ परिवहन निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक आशीष कुमार ने शनिवार को कोरोना वायरस के संबंध में मोतिहारी का दौरा करने के दौरान वहां के जिलाधिकारी एवं सिविल सर्जन से मिलकर स्क्रीनिंग के साथ ही सुरक्षा को लेकर कई इंतजाम की मांग की. ज्ञात हो कि प्रतिदिन  मुजफ्फरपुर से नेपाल दो बसों का आवागमन होता है इसको देखते हुए राज्य पथ परिवहन निगम के द्वारा निगम की बसों में साफ-सफाई की व्यवस्था के दिशा निर्देश जारी कर उनका सख्ती से पालन करने का आदेश दिया गया है.