कनिका कपूर जैसा कोरोना मामला बिहार में भी

पटना (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट) :- मशहूर बॉलीवुड सिंगर कनिका कपूर पर कोरोना वायरस संक्रमण के मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है. कनिका कपूर के कोरोना वायरस संक्रमित होने की पुष्टि होने के बाद भी उन्होंने नियम तोड़ते हुए कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया. इस दौरान वो बहुत सारे लोगों के संपर्क में आईं इसको देखते हुए उन पर महामारी कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी. अब कनिका कपूर के मामले के उजागर होने के बाद एक ऐसा ही मामला बिहार से आ रहा है. जिसमे कोरोना के मरीज की पुष्टि होने के बाद अस्पताल से भागने का मामला सामने आया है. लापरवाही से भरी इस घटना के लिए कोरोना के मरीज के साथ-साथ अस्पताल प्रशासन भी पूरी तरह से ज़िम्मेदार है.

घटना के अनुसार बिहार के पटना में स्थित एम्स में कोरोना वायरस से संक्रमित एक मरीज राहुल शर्मा को भर्ती किया गया था. राहुल शर्मा स्कॉटलैंड से लौट कर आये थे. जांच के दौरान राहुल के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि होने बाद उनको पटना एम्स में भर्ती किया गया जहाँ उनका इलाज़ चल रहा था. लेकिन अस्पताल प्रशासन की लापरवाही की वजह से राहुल पटना एम्स से भाग निकला. कोरोना वायरस से संक्रमित होने बाद भी राहुल शर्मा स्वास्थ एजेंसी और पुलिस प्रशासन की पकड़ में नहीं आया. इसे प्रशासन की बहुत लापरवाही कह सकते हैं कि राहुल कोरोना संक्रमित होने बाद भी खुलेआम घुमते हुए और अन्य लोगों के सम्पर्क में रहा.

मिली जानकारी के अनुसार फुलवारीशरीफ के गोनपुरा से प्रशासन ने राहुल शर्मा को गिरफ्त में ले लिया. जिसके बाद उसको एनएमसीएच में भर्ती किया गया है जहाँ उसका इलाज चल रहा है. फिलहाल मामले की गंभीरता को देखते हुए उस पर विशेष निगरानी भी रखी जा रही है.

सिंगर कनिका कपूर मशहूर होने के कारण मीडिया की सुर्ख़ियों में आ गयीं और राहुल शर्मा जैसा लापरवाही का बड़ा मामला दब कर रह गया. राहुल शर्मा प्रशासन की पकड़ में आने से पहले पटना से सटे फुलवारीशरीफ के गोनपुरा में जितने भी लोगों के सम्पर्क में रहा होगा सबको कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ गया होगा लेकिन राहुल  किन किन लोगों के संपर्क में रहा है इसका पता लगाना बड़ा मुश्किल काम है. फिलहाल बॉलीवुड सिंगर कनिका कपूर और राहुल शर्मा दोनों के साथ -साथ इस तरह के मामलों में लापरवाही बरतने की ज़िम्मेदार सरकार और प्रशासन भी हैं.