पश्चिम चंपारण में अपनी खोई ज़मीन तलाशने में जुटी कांग्रेस

बगहा (इमरान अजीज – the bihar now रिपोर्ट) | बिहार में चुनावी साल है और सभी दलों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है. एक ओर बीजेपी अगस्त महीने के अंतिम में प्रत्याशियों को क्षेत्र में दौरे का नसीहत दिया है, तो वहीं कांग्रेस अपनी खोई ज़मीन तलाशने में जुटी है. चुनाव आयोग ने जैसे ही कोविड 19 के दौर में चुनाव संपन्न कराने की गाइड लाइन ज़ारी किया, एनडीए और यूपीए की ओर से तैयारी तेज़ हो गई है. इसी कड़ी में बिहार विधानसभा चुनाव के बीच 01 वाल्मिकीनगर लोकसभा सीट पर उप चुनाव की भी तैयारी जोर शोर से चल रही है.

पश्चिम चंपारण जिला में आगामी विधानसभा और बिहार के पहले लोकसभा सीट पर उप चुनाव की गहमा गहमी अब जोर पकड़ने लगी है. इसी क्रम में कांग्रेस भी क्षेत्र में अपने प्रत्याशी के चुनाव को लेकर काफी संजीदा है जिसके लिए कोर कमिटी की बैठक आईबी गेस्ट, हाउस बगहा में हुई. इस समीक्षा बैठक में ई. शशिभूषण राय और निर्मल वर्मा बतौर ऑब्जर्वर कार्यकर्ताओं से रूबरू हुए.

बैठक के बाद संवाददाताओं को सम्बोधित करते हुए ई. शशिभूषण राय उर्फ़ गप्पु राय ने कहा कि बिहार में महागठबंधन की सरकार बनी तो बगहा को राजस्व जिला बनाने की लम्बे समय से चली आ रही मांग पूरी की जाएगी. वही दूसरी तरफ कांग्रेस नेताओं ने बगहा में हो रहे गंडक नदी से कटाव को लेकर भी सरकार को आड़े हाथों लिया और बचाव राहत कार्य की मांग किया.

https://youtu.be/cFbkqDXfJkk

बता दें कि 2020 बिहार विधानसभा चुनाव के साथ ही वाल्मीकिनगर संसदीय क्षेत्र में लोकसभा का उपचुनाव भी होना है। क्योंकि जेडीयू सांसद वैद्यनाथ प्रसाद महतो के असामयिक निधन के बाद से यह सीट रिक्त पड़ी है.

इधर कांग्रेस कोर कमेटी की समीक्षा बैठक में वरीय पत्रकार प्रवेश मिश्रा ने 01 वाल्मिकीनगर लोकसभा सीट पर अपनी उम्मीदवारी को लेकर दावेदारी पेश किया तो वहीं बीएसपी से 04 बगहा विधानसभा से दो बार चुनाव लड़ें और उप विजेता रहे अधिवक्ता कामरान अज़ीज़ ने महागठबंधन में कांग्रेस से दावेदारी किया.

ऐसे में अब देखना दिलचस्प होगा कि मिशन 2020 लोकसभा उप चुनाव और विधानसभा चुनाव में पश्चिम चंपारण जिला में कांग्रेस अपनी खोई ज़मीन तलाशने में सफ़ल होती भी है या नहीं.

Advertisements