बगहा में नाव दो टुकड़ों में बंटी, बाल-बाल बचे सवार

बगहा (इमरान अजीज – The Bihar Now) | बड़ी पश्चिमी चंपारण जिला के बगहा से आ रही है जहां नरायणापुर घाट के समीप गंडक नदी में पाया से टकराने के एक नाव दो टुकड़ों में बंट गया. नाव पर क़रीब एक दर्जन लोग सवार थे जो सभी तैर कर सकुशल नदी के बाहर आ गए.

बताया जाता है कि पाया से टकराने के बाद नाव के दो तुकड़ें हो गए तथा उसपर सवार लोग अचानक नदी की बीच धार मे डूबने लगे. गनीमत की बात रही कि उसपर सवार सभी लोग तैरना जानते थे जिस कारण सभी नदी में ही तैरने लगे. तभी आसपास के नाविकों और मछुआरों ने दूसरी नाव की सहायता से सभी लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित नदी से बाहर निकाला.

खबरों के मुताबिक नाव पर सवार ग्रामीणों का जत्था दूध और मवेशियों के लिए चारा लाने यूपी की तरफ गंडक दियारा में जा रहा था. तभी पटखौली थाना क्षेत्र के नरायणापुरघाट के समीप वार्ड नं 8 में यह हादसा हो गया.

नाव के हादसे की सूचना मिलने पर बगहा एसडीएम विशाल राज तथा एएसपी धर्मेन्द्र झा घटनास्थल पर पहुँच गए. उनके साथ पठखौली थाना पुलिस दल भी मौक़े पर पहुंच कर मामले की जाँच की.

एसडीएम ने कहा कि इस तरह के हादसे अवैध नाव और ओवरलोड की वजह से हो रहे हैं. इस मामले की जाँच पड़ताल कर गैर-निबंधित/अवैध निजी नाव चलाने वाले नाविकों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई किया जायेगा.

बगहा एसडीएम विशाल राज़ के अनुसार हादसे का शिकार नाव में 7-8 लोगों सवार थे. पार्षद प्रतिनिधि भोले नाथ यादव ने सरकार और शासन से पूर्व की घटनाओं और नाव हादसों से सबक लेते निबंधित सरकारी बड़े नाव चलाने की मांग की है ताकि हजारों की आबादी वाले इलाके से दियारा की ओर आवाजाही में दिक्कतें न हो.

अब देखना दिलचस्प होगा कि आखिर कार अवैध नाव का परिचालन सचमुच बंद होता है या जाँच के नाम पर पूर्व की भांति महज खानपुर्ति होती है.

Advertisements