बिहार में कन्‍हैया कुमार के काफिले पर हमलों का सिलसिला लगातार जारी

आरा– जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्‍यक्ष एवं भाकपा नेता कन्‍हैया कुमार के काफिले पर हमलों का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। मिली जानकारी के अनुसार कन्‍हैया कुमार का काफिला आरा-बक्सर हाईवे पर गजराजगंज ओपी के बामपाली गांव के समीप पंहुचा था तभी बाइक सवार लोगों ने कन्‍हैया कुमार के काफिले पर जमकर पथराव शुरू कर दिया। पथराव इतना जबरदस्त था कि काफिले में भगदड़ मच गयी और काफिले में शामिल लोग इधर उधर भागने लगे। काफिले में शामिल वाहनों से बहुत सारे लोगों के कुचले जाने से भीड़ बहुत आक्रोशित हो गयी। इस हमले में लोगों को इतनी ज्यादा चोटें आयी हैं कि उनको अस्‍पताल में भर्ती करना पड़ा है। मामला बिगड़ता देख पुलिस बल ने मौके पर पहुंचकर काफिले को आगे बढ़वाया। हालात इतने ज्यादा बेकाबू हो गए कि कन्‍हैया कुमार को जान बचाने के लिए दूसरी गाड़ी में बैठकर भागना पड़ा।

कन्हैया कुमार ने ट्वीट कर कहा है कि “आज जन-गण-मन यात्रा का काफिला बक्सर में सभा करने के बाद आरा पंहुचेगा। गोडसे-प्रेमियों ने आरा में होने वाली सभा के मंच मे कल रात आग लगा दी है लेकिन हम तो जाएंगे मोहब्बत का कारवां लेकर और लगाएंगे नफ़रत से आज़ादी के नारे।इंकलाब मंच का मोहताज नही होता दोस्तों”।

कन्हैया कुमार के काफिले पर सिलसिलेवार हमलों का लगातार होना जारी है। 2 फरवरी को बिहार के छपरा में कन्हैया कुमार एक सभा में शामिल होने जा रहे थे और अचानक भीड़ ने उनके काफिले को निशाना बनाते हुए पथराव शुरू कर दिया था. इसके बाद 5 फरवरी को सुपौल में  कन्हैया कुमार की गाड़ी पर हमला किया गया था। कन्हैया कुमार के वाहन के सामने कुछ युवकों ने आकर सीएए, एनआरसी के समर्थन में नारे लगाए और लोगों ने उन पर काली स्याही फेंक कर काफिले का विरोध किया था।