भटके बाघ की खोज जारी, लोग दहशत में

बगहा (TBN रिपोर्ट) | रामनगर के सपही इमरती कटहरवा गांव के आस-पास एक बाघ डेरा डाले हुए है. यहां वाल्मीकि टाइगर रिजर्व से भटके बाघ का सर्च ऑपरेशन ज़ारी है. दरअसल लॉकडाउन में बीते कई दिनों से गांव में वनराज डेरा डाले हुए है. इससे यहां ग्रामीणों में दहशत का माहौल है और वन विभाग की मुश्किलें भी बढ़ती जा रही हैं.

बताया जा रहा है कि इस आदमखोर बाघ ने घात लगाकर अब तक चार लोगों को ज़ख्मी कर दिया है. वहीं बाघ के चहलकदमी व हमले की दहशत और भगदड़ में एक युवक की मौत भी मसान नदी में डूबने से हो चुकी है.

आपको बताएं की रामनगर के सपही इमरती कटहरवा गांव के आस-पास बाघ डेरा डाले हुए है, जिससे ग्रामीणों को हर वक़्त जानमाल के नुकसान की चिंता सता रही है. घटना की गंभीरता को देखते हुए ख़ुद वाल्मीकि टाईगर रिजर्व के डीएफओ वन अम्बरीश मल्ल इसकी निगरानी में जुटे वन कर्मियों और टाईगर टेकर के साथ बाघ को सुरक्षित जंगल की ओर भगाने में जुटे हैं ताकि आगे कोई अप्रिय घटना न घटित हो सके.

साथ ही वन विभाग की ओर से घायलों को राहत मदद और मुआवजे की भी घोषणा की गई है.

बताते चलें, इस मामले में दी बिहार नाउ में छपी बुधवार के समाचार में हमने लिखा था कि इस गाँव में एक तेंदुआ भटक कर आ गया है. लेकिन क्षेत्र के डीएफओ वन अम्बरीश मल्ल ने जानवर के पदचिन्हों को देखकर बताया कि ये तेंदुआ नहीं बल्कि एक बाघ है.

https://youtu.be/VcEetTRmYQE