बाढ़ और कटाव की त्रासदी से चिंतित ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

बगहा (इमरान अजीज) | बड़ी ख़बर पश्चिम चंपारण जिला के बगहा से है जहां लॉकडाउन में सोशल डिस्टेंसिंग के मानक को भूलाकर ग्रामीणों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया. दरअसल वे कुछ ही दिनों में आने वाले बरसात के कारण बाढ़ और कटाव की त्रासदी को लेकर चिंतित हैं.

बताया जा रहा है कि रामनगर के मशान नदी के पास बन रहे गाइड बांध में भारी अनियमितता को लेकर ग्रामीण आक्रोशित हो गए. वहां निरीक्षण करने पहुंचे अधिकारियों के साथ अधीक्षण अभियंता तथा संवेदक का उन्होंने घेराव भी किया. बाद में शांति बहाल हुई और दोनों ओर से वार्तालाप हुई.

हालांकि इस दरम्यान लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का बिल्कुल भी ख्याल नही किया और एक दूसरे से बहुत नजदीक सट कर खड़े रहे. बांध निर्माण में हो रही गड़बड़ियों की शिकायत करते हुए अधिकारियों को वहां की हक़ीक़त दिखाते रहे.

दरअसल ग्रमीणों की शिकायत थी कि संवेदक प्राकलन के मुताबिक गुणवत्तापूर्ण कार्य नहीं करा रहे हैं और गाइड बांध में मिट्टी की जगह सिल्ट बालू का उपयोग कर रहे हैं. मौके पर पहुंचे अधीक्षण अभियंता ने काफी मशक्कत कर आक्रोशित ग्रामीणों को समझा बुझा कर शांत कराया और संवेदक ओझा कंस्ट्रक्शन को, जहाँ जहाँ भी बालू का उपयोग हुआ था उसको हटाकर मिट्टी से बांध निर्माण कराने का आदेश दिया. साथ ही उन्होंने संवेदक को गुणवत्तापूर्ण काम कराने की चेतावनी भी दी.

tbn bagha matter of embankment work

आपको बताते चलें कि इलाक़े के दर्जनों गांवों समेत नगर को बाढ़ कटाव से बचाने के लिए रामनगर के मशान नदी के बगल में लोरी टोला से दोन नहर तक बांध का निर्माण कराया जा रहा है. इसकी लंबाई करीब 4200 मीटर और बांध बनाने की लागत क़रीब तीन करोड़ से अधिक है.

https://www.youtube.com/watch?v=QH4i2epik1w