शराब माफिया को गिरफ्तार करने गई पुलिस टीम पर हमला, थानाध्यक्ष सहित 5 पुलिसकर्मी घायल

सिवान (TBN – The Bihar Now डेस्क)| बिहार (Bihar) में एक बार फिर पुलिस पर शराब माफियाओं (Liquor mafia) ने हमला किया (Liquor mafia attacked Siwan police) है. पुलिस पर इस हमले में थानाध्यक्ष सहित कुल 5 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं.

घटना सिवान जिले के पचरुखी थाना इलाके के मन्दिरापाली गाँव की है. रविवार की रात करीब 8 बजे इस गांव में पचरुखी थाने की पुलिस थानाध्यक्ष ददन सिंह के नेतृत्व में छापेमारी करने पहुँची. छापेमारी के दौरान शराब माफिया सत्येंद्र यादव उर्फ छोटन यादव तथा उसके परिवार के लोगों ने पुलिस पर लाठी-डंडे व ईट पत्थर से हमला कर दिया. इस हमले में थानाध्यक्ष ददन सिंह समेत कई पुलिसकर्मी घायल हो गए. पुलिस की जिप्सी को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया.

हालांकि यह कोई नई घटना नहीं है. यहां पहले भी शराब माफिया द्वारा पुलिस पर हमला कर चुका है. इस इलाके का दबंग एक शराब माफिया है. रविवार रात शराब के 3 मामलों में पुलिस उसे गिरफ्तार करने गांव पहुँची थी.

इस घटना के बारे में पचरुखी थाना के थानाध्यक्ष ददन सिंह ने बताया कि सत्येंद्र यादव उर्फ छोटन यादव शराब के 3 मामलों में अभियुक्त है. उसी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस मन्दिरापाली पहुंची थी. पुलिस को देखते ही कई लोगों ने लाठी-डंडा लेकर हमला कर दिया. सत्येंद्र यादव उर्फ छोटन यादव के परिवार की महिलायें सहित अन्य परिजनों ने पुलिस पर ईट-पत्थर चलाना शुरू कर दिया.

यह भी पढ़ें| ब वैशाली में भी बेगूसराय कांड दुहराया गया, पुलिस छानबीन में जुटी

थानाध्यक्ष के अनुसार, इस हमले में वो घायल हो गए तथा 5 अन्य पुलिसकर्मी भी घायल हो गए. हमलावरों ने पुलिस की जिप्सी पर भी लाठी-डंडे चलाएं जिससे वह भी हल्का क्षतिग्रस्त हो गया.

ददन सिंह ने बताया कि इसके पहले में भी इसी थाने के निवर्तमान दारोगा रामप्रवेश भी छापेमारी करने गए थे तो इन लोगो ने हमला कर दिया था. यह कोई नई बात नहीं है, यह माफिया बराबर पुलिस पर हमला करते रहता है.

थानाध्यक्ष ने बताया कि घायल पुलिसकर्मियों का ईलाज चल रहा है. थानाध्यक्ष ददन सिंह, सिपाही संजीव कुमार, हवलदार सुनील कुमार, ड्राइवर कृष्णा पासवान सहित कुल पांच पुलिसकर्मी घायल हैं. उन्होंने बताया कि दबंग शराब माफिया सत्येंद्र यादव उर्फ छोटन यादव सहित कई लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कर लिया गया है.

हाल ही में पुलिस का हुआ था मर्डर

सीवान में अपराधियों का इतना मनोबल बढ़ गया है कि इधर कुछ दिनों पहले सिसवन थाना इलाके के ग्यासपुर में एक सिपाही की गश्ती के दौरान हत्या कर दी गई थी. इस कांड में रईस खान गिरोह का नाम सामने आया था. उस मामले में अभी एक अपराधी आफ़ताब मियां कोर्ट में आत्मसमर्पण कर चुका है जबकि अन्य कई अपराधी अभी फरार हैं.