नाराज़ सफाईकर्मियों ने की हड़ताल

पटना (TBN रिपोर्ट) :- बिहार में कोरोना से निपटने के लिए नीतीश सरकार के निर्देशानुसार स्वास्थ्य विभाग के साथ पुलिस प्रशासन भी कदम से कदम मिलाकर चल रहे हैं. वहीँ कोरोना से लड़ने में राज्य के सफाई कर्मियों का भी अहम योगदान है क्यूंकि ऐसे में जब हर व्यक्ति अपने घरों में सुरक्षित है तब सफाईकर्मी सड़कों, गलियों और मुहल्लों में निकलकर सफाई कार्य में लगे हुए हैं. इधर राज्य में कोरोना के चलते लॉकडाउन लागू होने के बाद पुलिस प्रशासन सख्ती अपनाते हुए लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रही है. जिसका खामियाजा कभी कभी सफाई कर्मियों को भी भुगतना पड़ रहा है. ऐसा ही एक ताज़ा मामला पटना से सामने आया है जिसके अनुसार पुलिस की बर्बरता से खफा होकर, खगौल नगर परिषद के सफाईकर्मियों ने अपने सहकर्मी की पिटाई के विरोध में हड़ताल कर दी है.

इस मामले के बारे में बताते हुए खगौल नगर परिषद के सफाईकर्मियों ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि “आईकार्ड दिखाने के बावजूद पुलिस के द्वारा सफाई कर्मियों को पीटा जा रहा है यहाँ तक कि लगातार सफाई कर्मियों के साथ पुलिस के  द्वारा पिटाई की घटनाएं हो रही हैं. जबकि सफाई कर्मियों को शहर को स्वच्छ रखने के लिए नगर परिषद के साथ-साथ सरकार की तरफ से भी छूट दी गई है”.

सफाई कर्मियों और नगर परिषद कर्मचारियों नवीन कुमार, मोहम्मद चांद और गोपाल आदि ने बताया कि, “हम लोग सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन कर रहे हैं. फिर भी  पुलिस लगातार पिटाई कर रही है, ऐसे में हम काम नही कर सकते. पुलिस पर कारवाई होनी चाहिये तभी वो काम पर लौटेंगे”. सफाई कर्मियों ने साफ कह दिया है कि जब तक दोषी पुलिस पर कार्रवाई नहीं होगी तब तक हड़ताल जारी रखेंगे.