भागलपुर विस्फोट में एक बच्चा सहित 7 मरे, नीतीश ने की संवेदना व्यक्त

भागलपुर / पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| शुक्रवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भागलपुर में गुरुवार देर रात हुए एक विस्फोट में मारे गए (Nitish Kumar expressed condolences to families of people who died in an explosion in the Bhagalpur) लोगों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की. साथ ही उन्होंने मुख्य सचिव और डीजीपी को मामले की जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.

इससे पहले आज, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस विस्फोट में एक बच्चे सहित सात लोगों की मौत पर दुख व्यक्त किया. उन्होंने मुख्यमंत्री के साथ स्थिति पर भी चर्चा की और कहा कि विस्फोट के पीड़ितों को हर संभव सहायता प्रदान की जा रही है.

बता दें, गुरुवार आधी रात को भागलपुर बम धमाके (Bomb blast in Bhagalpur) से दहल गया. रात करीब साढ़े ग्यारह बजे हुए भीषण बम धमाके की गूंज दूर तक के इलाकों तक पहुंची. विस्फोट तातारपुर थाना क्षेत्र के काजवलीचक में हुआ. एक घर के अंदर हुए भीषण विस्फोट (Seven killed in a massive explosion in Bhagalpur town late on Thursday night) से पूरे शहर में हड़कंप मच गया. पुलिस की टीम आनन-फानन में मौके पर पहुंची. जिले के एसएसपी और डीआईजी भी घटनास्थल पर पहुंचे. इस विस्फोट में एक बच्चे सहित सात लोगों की मौत हो गई.

जानकारी के अनुसार, गुरुवार आधी रात जब लोग अब नींद में जाने की तैयारी में थे, अचानक भागलपुर के शहरी इलाके में एक तेज धमाका हुआ और लोग भयभीत हो गये. लोगों को कुछ समझ में नहीं आया कि ये आवाज भला किस चीज की थी. लोग अलग-अलग तरह की कल्पना करने लगे. सोशल मीडिया पर कुछ लोग भुकंप तक का जिक्र कर बैठे. वहीं कुछ लोगों ने लिखा कि आसमान में धुंआ फैला हुआ है. लेकिन हकीकत कुछ ही मिनटों में सामने आ गयी.

दरसल ये आवाज तातारपुर थाना क्षेत्र (Tatarpur Police Station Area of Bhagalpur town) में हुए भीषण बम धमाके का था. थाना क्षेत्र के काजवलीचक में यतीमखाना के पास एक बिल्डिंग में भीषण धमाका हुआ था. ये धमाका इतना जोरदार था कि एक बिल्डिंग जहां पूरी तरह से ध्वस्त होकर जमींदोज हो गयी, वहीं आस-पास के तीन मकानों के दीवारें भी टूट गये.

इस धमाके से बगल के घरों में सो रहे लोग तक बुरी तरह जख्मी हो गये. धमाके की आवाज कई किलोमीटर तक सुनाई दी गयी. वहीं ध्वस्त हुए मकान का मलवा घटनास्थल से करीब 200 से 300 मीटर तक छिटका दिखा.

यह भी पढ़ें| लालू को मिलेगी बेल या रहेंगे जेल में ! सुनवाई आज

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस की बड़ी टीम सीनियर अधिकारियों के साथ पहुंची. एसएसपी बाबु राम भी मौके पर पहुंचे. जेसीबी की मदद से फौरन मलवे को हटाने का काम शुरू किया गया. मलवे के अंदर दबे शवों को बाहर किया जाने लगा.

भागलपुर में बम विस्फोट के मलवे के अंदर कई लोग दबे मिले जिन्हें बाहर निकालकर आनन-फानन में अस्पताल भेजा गया. बम धमाके के पीछे की वजह भी सामने नहीं आई है. अस्पताल पहुंचे एक घायल ने बताया कि उसके पड़ोस के घर में बम बनाने का काम होता था, उसी घर में धमाका हुआ. लेकिन इसकी जद में कई अन्य घर भी आ गये और आस-पास के लोगों को भी क्षति पहुंची है.

भागलपुर डीएम का कहना है कि जिस बिल्डिंग में धमाका हुआ वहां आतिशबाजी का सामान बनता था. पहले भी यहां ऐसी घटना हुई थी पर वो हल्की थी. डीएम ने कहा कि ये जांच का विषय है कि धमाके की असली वजह क्या थी. वहीं कुछ लोगों का कहना है कि आतिशबाजी का सामान बनाने की आड़ में बम बनाया जाता था.