जिला शिक्षा विभाग ने उठाया सख्त कदम, 1200 शिक्षक होंगे निलंबित

 मुजफ्फरपुर (संदीप फिरोजाबादी की रिपोर्ट)- जिला शिक्षा पदाधिकारी के द्वारा मैट्रिक परीक्षा की कॉपियों के मूल्यांकन नहीं करने वाले शिक्षकों पर एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दे दिया गया है. जिला शिक्षा विभाग ने मैट्रिक की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन नहीं करने वाले 1200 से अधिक शिक्षकों की एक सूची तैयार की है और शिक्षकों पर कार्रवाई करने के लिए निर्देश दे दिए गया है जिसके तहत मैट्रिक के मूल्यांकन में योगदान नहीं देने वाले शिक्षकों को निलंबित कर उन पर प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी.

मैट्रिक की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य जिले में 6 केंद्रों पर चल रहा है. बिहार बोर्ड ने मूल्यांकन के लिए शिक्षकों की सूची जारी की थी लेकिन सूची में से अधिकतर शिक्षकों ने केंद्रों पर पहुंचकर मूल्यांकन शुरू नहीं किया. इससे यह बात तो स्पष्ट है कि तय समय पर मूल्यांकन होना संभव नहीं हो पायेगा. इसके साथ ही इंटर की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन का कार्य भी जारी है जिसमे शिक्षक लगे हुए तो इस वहज से भी शिक्षकों की संख्या में कमी होना संभव है.

डॉ. विमल ठाकुर (डीईओ) ने मैट्रिक के मूल्यांकन में योगदान नहीं देने वाले शिक्षकों पर कार्यवाही करने के बारे में बात करते हुए कहा है कि “सरकार के निर्देश के बावजूद अब तक मैट्रिक के मूल्यांकन में योगदान नहीं देने वाले शिक्षकों पर सक्षम प्राधिकार के माध्यम से निलंबन की कार्रवाई भी सुनिश्चित की जाएगी और निलंबित करने के बाद उन पर प्राथमिकी दर्ज भी कराई जाएगी”.