‘102’ की हड़ताल से शव को ठेले पर ले जाने को मजबूर

नालंदा (TBN – The Bihar Now) | नालंदा जिले में एंबुलेंसकर्मियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल कर दिया है. इस हड़ताल की वजह जिले में पुलिसकर्मियों द्वारा एंबुलेंसकर्मी के साथ मारपीट की घटना है. इस घटना के विरोध में जिले के सभी ‘102’ एंबुलेंसकर्मियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल कर दिया है.

इस हड़ताल का असर बिहारशरीफ सदर अस्पताल में कुछ ही घंटों बाद दिखने लगा. हुआ यूं कि साको देवी नाम की एक महिला की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. महिला के शव को परिजनों ने पोस्टमार्टम के लिए बिहार शरीफ सदर अस्पताल ठेले पर लाया. पोस्टमार्टम के बाद परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन से शव को ले जाने के लिए सरकारी एंबुलेंस की मांग की. लेकिन सरकारी एंबुलेंस नहीं मिलने के कारण परिजनों को कड़ी धूप में ही महिला के शव को ठेले पर घर ले जाना पड़ा.

परिजनों के अनुसार एंबुलेंसकर्मियों के अनिश्चितकालीन हड़ताल के कारण उन्हें शव को ले जाने के लिए सरकारी एंबुलेंस नहीं मिला.

बताते चलें कि बिहारशरीफ अस्पताल की ऐसी तस्वीर सामने आना कोई नई बात नहीं है. पहले भी कई बार लोग मृत शरीर को अपने कंधे या मोटरसाइकिल पर ले का मामला सामने आ चुका है.