मेधावी एवं आर्थिक रूप से कमजोर बिहारी छात्रों को 100% छात्रवृति देगा निजामिया एजुकेशन ग्रुप

पटना (TBN रिपोर्टर) | गुरुवार को पटना में मेधावी व आर्थिक रूप से कमजोर छात्र – छात्राओं को देश के प्रतिष्ठित संस्थानों में जगह दिलाने वाले संस्थान निजामिया एजुकेशन ग्रुप ने अपना प्रॉस्पेक्टस लांच किया. लांचिंग के अवसर पर सुपर 30 के गणितज्ञ आनंद कुमार (मुख्य अतिथि), निजामिया एजुकेशन ग्रुप के प्रबंध निदेशक मकसूद अहमद, बिहार पब्लिक स्कूल एंड चिल्ड्रन वेलफेयर असोसिएशन के अध्यक्ष डी के सिंह, शिक्षिका श्रीमती मोनिका श्रीवास्तव, एपीएस ग्रुप ऑफ एजुकेशन के संस्थापक महेश चंद शर्मा, केएल विश्विद्यालय के निदेशक डॉ जे श्रीनिवास राव मौके पर मौजूद रहें तथा सबों ने संयुक्त रूप से निजामिया एजुकेशन ग्रुप का प्रॉस्पेक्टस लांच किया.
आनंद कुमार ने निजामिया एजुकेशन ग्रुप की सराहना करते हुए कहा कि निजामिया ग्रुप देशभर में आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को मुफ्त शिक्षा देकर उन्हें सशक्त रहा है, साथ ही उन्हें जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित कर रहा है. उन्होंने निजामिया ग्रुप के इस छात्रहित में हो रहे कामों के लिए अपना पूरा सहयोग देने का वचन दिया.

 

निजामिया एजुकेशन ग्रुप के प्रबंध निदेशक मकसूद अहमद ने मीडिया को सम्बोधित करते हुए बताया कि आगामी 19 अप्रैल, 2020 को निजामिया स्कॉलर्शिप टेस्ट का आयोजन किया जाएगा जिसमे देशभर के विद्यार्थी शामिल होंगे उन्होंने कहा कि टॉप 500 रैंकर्स को संस्थान की तरफ से मुफ्त शिक्षा, 500 से लेकर 2500 रैंक लाने वालों को मुफ्त लैपटॉप व 2500 से 5500 रैंकर्स को मुफ्त टेबलेट दिया जाएगा.
मकसूद अहमद के अनुसार इस साल निजामिया एजुकेशन ग्रुप के द्वारा बिहार के 100 बच्चों को 100 प्रतिशत स्कॉलर्शिप, 350 बच्चों को लैपटॉप्स व 550 बच्चों को टेबलेट्स दिया जाएगा. निजामिया स्कॉलर्शिप टेस्ट के बारे में उन्होंने बताया कि यह टेस्ट मेरिट आधारित छात्रवृति कार्यक्रम है जिसका उद्देश्य बिना किसी भेदभाव के सही एवं योग छात्रों को छात्रवृति देना है तथा पुरे भारतवर्ष से इस साल 5500 छात्रों को छात्रवृति प्रदान की जाएगी.
कार्यक्रम के अंत में निजामिया एजुकेशन ग्रुप के द्वारा सुपर – 30 फिल्म में काम करने वाले बिहार के बच्चों को साइकिल उपहार स्वरुप भेंट किया गया.