शराबबंदी की धज्जियां उड़ाता ये पुलिसकर्मी

सासाराम (धनंजय तिवारी – The Bihar Now) | प्रदेश में पिछले कई सालों से शराबबंदी जरूर है लेकिन जब पुलिसकर्मी ही इस कानून की धज्जियां उड़ाने लगे तो सवाल उठना लाज़मी हैं. रोहतास जिला के बिक्रमगंज थाना में पदस्थापित रामकरण राम जब ओमवर को शराब के नशे में चूर होकर एक शव का पोस्टमार्टम कराने सासाराम सदर अस्पताल पहुंचे, तो उनके ड्रामे को देखकर सभी सकते में आ गए.

दरअसल बिक्रमगंज थाना में पदस्थापित हवलदार रामकरण सोमवार को एक शव का पोस्टमार्टम कराने सासाराम के सदर अस्पताल आया. उसने जमकर शराब पी रखी थी. शराब पीकर उसमें पोस्टमार्टम हाउस के पास जमकर हंगामा किया.

जब पत्रकारों और कैमरा पर्सन ने उससे शराब पीने के बारे में पूछा तो उनसे ही वो महाशय गाली-गलौज करने लगा. इतना ही नहीं, बल्कि पूरी ताकत से मारने के लिए भी दौड़ा लेकिन नशे में धुत होने के कारण खुद जमीन पर गश खाकर गिर गया.

नशेड़ी पुलिसकर्मी नशे के दौरान मे अपने आपको सरकारी आदमी बताते हुए सबों को धमकी देता था कि हम से पंगा मत लो. उसने कहा कि यदि फोटो खींचना है तो और लोग जो शराब पी रहे हैं उसका भी खींचो.

बाद में वहां उपस्थित स्वास्थ्य कर्मियों ने उसे संभाला. परंतु वह अस्पताल परिसर में जब तक रहा, दारू के नशे में वर्दी का रौब दिखाता रहा. तस्वीर ले रहे कैमरा पर्सन तथा पत्रकारों को जमकर गालियां दी जिसे हम आपको सुना भी नहीं सकते हैं.

उस नशेड़ी पुलिसकर्मी की नौटंकी ने आसानी से बताया दिया है कि रोहतास में शराबबंदी की क्या स्थिति है. बताते चले कि बिक्रमगंज पुलिस ने शनिवार को 55 कार्टन अंग्रेजी शराब बरामद किया था. शायद बरामद शराब में से यह पुलिसकर्मी ने कुछ बोतल गटक लिया और सुबह सुबह ड्यूटी बजाने वर्दी पहन कर सासाराम पहुंच गया. इतना ही नहीं, शराब के नशे में वह बयान भी दे रहे थे.