गंडक नदी में डूबी नाव, 24 लोगों के अलावा गन्ने से भरा एक ट्रैक्टर भी था नाव पर

बेतिया (TBN – The Bihar Now डेस्क)| पश्चिम चंपारण जिले के बेतिया से एक बड़ी खबर सामने आई है. वहां एक नाव हादसा (Boat Capsized In Gandak river in West Champaran) हुआ है जिसमें लगभग 24 लोगों के डूबने (24 People feared Drowned) की आशंका है. प्रशासन द्वारा घटनास्थल पर राहत का कार्य शुरू कर दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक, यह हादसा नौतन इलाके के भगवानपुर दियारे में हुआ है. गंडक नदी पार कर खेती करने जा रहे किसानों और मजदूरों से भरी एक नाव पलट गई. बताया जा रहा है कि नाव पर गन्ना से भरा एक ट्रैक्टर भी लदा था और वजन ज्यादा होने के कारण नाव का संतुलन बिगड़ गया और यह हादसा हो गया.

मौके पर एसडीओ, एसडीपीओ और वरीय अधिकारियों की टीम पहुंच गई है. घटना स्थल से एक महिला सहित तीन लोगों का शव बरामद कर लिया गया है. बाकी लापता लोगों की तलाश की जा रही है. डूबने वालों में कुचायकोट और विशंभरपुर थाना के इलाके के कई किसान बताए जा रहे हैं.

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बुधवार सुबह 11 बजे खाना खाने के बाद रोज की तरह ये लोग नदी के उसपार खेतों में काम करने के लिए जा रहे थे. भगवानपुर में गंडक नदी में नाव में 24 लोग सवार थे. ट्रैक्टर चढ़ाने के दौरान ट्रेक्टर अनियंत्रित होकर पलटा और नाव हादसा हो गया.

इस हादसे पर बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय (Health Minister Mangal Pandey) ने घटना को लेकर दुख जताया है. मंगल पांडेय ने ट्वीट कर लिखा- ‘गोपालगंज में गंडक नदी पर नाव हादसे का समाचार सुनकर मन दुःखी हुआ.’

बेतिया डीएम कुन्दन कुमार 14 लोगों के डूबने की पुष्टि कर रहे हैं जिसमे एक का शव बरामद किया गया है. 7 लोग सुरक्षित निकाले गए हैं जबकि 6 की तलाश ज़ारी है.

अबतक लापता होने वालों में विशंभरपुर थाना के खेम मटिहनियां गांव के इंद्रजीत प्रसाद जो ट्रैक्टर का चालक और मालिक है. इसके अलावा बरईपटी के जगपति साह की पत्नी उमा देवी, बेतिया नौतन थाना के भगवानपुर गांव के सत्यनारायण यादव की बेटी सरोज कुमारी 12 वर्ष, नंदलाल यादव की बेटी पुनिता कुमारी 14 वर्ष भी शामिल है. बाकी की पहचान के लिए पुलिस जुटी है.