राजधानी के इस स्कूल में कार्यरत सीआरपीएफ के 9 जवान निकले कोरोना पॉजिटिव

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | पटना के राजेंद्रनगर स्थित राजकीय बालक उच्च माध्यमिक विद्यालय में ठहराए गये सीआरपीएफ के 9 जवान कोरोना पॉजिटिव निकले है. इसके बाद से विद्यालय प्रशासन सकते में है.

एक ओर जहां बोर्ड द्वारा मैट्रिक और इंटर परीक्षा 2021 में सम्मिलित होने वाले छात्र-छात्राओं के लिए फॉर्म भरने की तिथि घोषित कर दी है, वही दूसरी तरफ इस वर्ष मैट्रिक और इंटर परीक्षा उत्तीर्ण छात्र-छात्राएं अपने मार्क्ससीट, प्रोविजनल सर्टिफिकेट, स्थानांतरण प्रमाण पत्र (टीसी) आदि लेने को लेकर छात्र-छात्राओं के साथ-साथ उनके अभिभावकों की भी भीड़ लगी रहती है. इसी बीच सीआरपीएफ के 9 शिक्षकेतर कर्मी कोरोना पॉजिटिव निकलने से वहां डर का माहौल है.

इस विद्यालय भवन के प्रथम तल पर बापू स्मारक महिला उच्च विद्यालय भी संचालित होती है. दोनों ही विद्यालयों में इंटर में नामांकन की प्रक्रिया के साथ साथ इस वर्ष मैट्रिक और इंटर परीक्षा उत्तीर्ण छात्र-छात्राएं अपने सर्टिफिकेट लेने जा रहे है. इन कार्यो को सम्पन्न करने के लिए शिक्षक एवं शिक्षकेतर कर्मी मजबूरन जान जोखिम में डाल कर विद्यालय आ रहे हैं.

इस मामले पर बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रवक्ता अभिषेक कुमार ने कहा कि बार-बार बोर्ड प्रशासन को इस संबंध में ध्यान आकृष्ट केंव के बाद भी बोर्ड द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया है.

एक साथ मैट्रिक और इंटर का अंकपत्र, प्रोविजनल, स्थानांतरण प्रमाण पत्र आदि के वितरण, इंटर का नामांकन, मैट्रिक व इंटर 2021 की परीक्षा में सम्मिलित होने वाले छात्र-छात्राओं के फार्म भरने का कार्य शुरू कर देने के कारण विद्यालयों में अत्यधिक भीड़ बढ़ गई है. जिससे विद्यालयों के शिक्षकों, शिक्षकेतर कर्मियों, होनहार छात्र छात्राओं एवं उनके अभिभावकों को कोरोना संक्रमित होने के लिए मजबूर किया जा रहा है.

वहीं दूसरी तरफ राज्य के 16 जिले बाढ़ की प्रभावित हैं. विद्यालयों में 4 से 5 फीट पानी भरा है तो वहीं आवागमन के कोई भी साधन उपलब्ध नहीं है.

अभिषेक कुमार ने कहा कि “शिक्षा विभाग और बोर्ड प्रशासन अपने कीर्तिमान के लिए राज्य के शिक्षकों, शिक्षकेतर कर्मियों व होनहार छात्र छात्राओं को संक्रमण की बलि पर ना चढ़ाएं और पुनः अपने निर्णय पर विचार करें”.