सोमवार को एनएमसीएच में फिर मिले 72 डॉक्टर और स्टूडेंट कोरोना पॉजिटिव, सभी खतरे से बाहर

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| राजधानी पटना के एनएमसीएच (Nalanda Mediacal College Hospital) में सोमवार को फिर से 72 और डॉक्टर व स्टूडेंट कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. तीन दिनों में एनएमसीएच में कुल 168 मेडिकल स्टूडेंट, पीजी डॉक्टर और सीनियर डॉक्टर करोना पॉजिटिव हो चुके हैं.

यह भी पढ़ें| नीतीश ‘जनता दरबार’ में 6 आगंतुक कोविड -19 पाज़िटिव

बता दें, कुल 153 जूनियर डॉक्टर, पीजी डॉक्टर और सीनियर डॉक्टरों के भेजे गए सैंपल का आरटी-पीसीआर टेस्ट(RT-PCR Test) कराया गया जिसमें 72 डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. एनएमसीएच अधीक्षक डॉ. विनोद प्रसाद ने बताया है कि कोरोना पॉजिटिव पाए गए सभी डॉक्टर फिलहाल खतरे से बाहर हैं और अधिकांश अपने घरों में क्वारंटाइन हैं.

सिर्फ तीन दिनों में मिले इतने पाज़िटिव

बता दें कि 1, जनवरी 2022 को 69 सैंपल की जांच हुई थी, जिसमें 20 लोग पॉजिटिव पाए गए थे. इनमें से 12 जूनियर डॉक्टर आरटीपीसीआर जांच में संक्रमित पाए गए. वहीं, 2 जनवरी को 194 जूनियर डॉक्टर व सीनियर डॉक्टरों की सैंपल की जांच की गई थी, जिसमें 84 डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. ऐसे में देखा जाए तो बीते दो दिनों में 96 डॉक्टर सिर्फ एनएमसीएच के कोरोना संक्रमित हुए थे.

सभी खतरे से बाहर

इधर, सोमवार को एनएमसीएच के 72 अन्य डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाए गए. इसके बाद सिर्फ एनएमसीएच में 168 जूनियर व सीनियर डॉक्टर संक्रमिक हो गए हैं. एनएमसीएच अधीक्षक ने बताया कि सभी संक्रमित डॉक्टर अभी खतरे से बाहर हैं और वे अधिकांश घरों में क्वारंटाइन हैं.

सिक्ख श्रद्धालु कोरोना पॉजिटिव

बता दें कि सोमवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, पटनासिटी के गुरु गोविंद सिंह अस्पताल में भी 502 लोगों का एंटीजन टेस्ट किया गया था, जिसमें पटनासिटी के 23 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

तख्त श्री हरमंदिर साहेब आए 6 सिक्ख श्रद्धालु कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. वहीं, बाल लीला गुरद्वारा में भी दो सिक्ख कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इधर, कंगन घाट गुरुद्वारा के भी दो लोग संक्रमित हैं. बताते चलें कि 9 जनवरी को तख्त श्री हरमंदिर साहिब में प्रकाश पर्व मनाया जाना है. इसको लेकर बिहार के बाहर से कई सिक्ख श्रद्धालु गुरुद्वारा में आ चुके हैं.

(इनपुट-एबी)