वकील कोटे से 6 बनेंगे पटना हाईकोर्ट के जज, सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने दी मंजूरी

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना की अध्यक्षता वाले पांच जजों के कॉलेजियम ने पटना उच्च न्यायालय के 6 अधिवक्ताओं को न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी दे है. साथ ही न्यायिक अधिकारियों में नवनीत कुमार पांडे और सुनील कुमार पंवार शामिल हैं.

पटना हाई कोर्ट को जल्द ही 12 नए जज मिलने वाले हैं जबकि एक जज पटना हाईकोर्ट से आंध्र प्रदेश हाइकोर्ट जाएंगे. विभिन्न हाइकोर्ट से पटना हाइकोर्ट में चार जजों के तबादले के बाद आ रहे हैं जबकि 6 नए जजों की नियुक्ति पटना हाईकोर्ट के वकील कोटे से हो रही है और 2 न्यायिक कोटे से.

6 जजों की वकील कोटे से नियुक्ति

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने 23 सितंबर, 2021 को हुई अपनी बैठक में पटना उच्च न्यायालय के 6 अधिवक्ताओं को न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी दे है. ये हैं – खातिम रज़ा, संदीप कुमार, डॉ अंशुमान पांडे, पूर्णेंदु सिंह, सत्यव्रत वर्मा और राजेश कुमार वर्मा.

बता दें, इस साल 12 फरवरी को न्यायाधीश संजय करोल की अध्यक्षता वाली पटना हाईकोर्ट के कॉलेजियम ने सुप्रीम कोर्ट को डॉ अंशुमन, आनंद ओझा, मृगांक मौली, पूर्णेन्दु सिंह, राजेश कुमार वर्मा, सत्यव्रत वर्मा, संदीप कुमार, मनीष कुमार, राजीव राय, अजय एवं खातिम रजा के नाम भेजा था.

4 जजों का पटना हाईकोर्ट तबादला

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने कर्नाटक हाइकोर्ट के जस्टिस पीबी बजंथरी, राजस्थान हाइकोर्ट के जस्टिस संजीव प्रकाश शर्मा, केरल हाइकोर्ट के जस्टिस एएम बदर और पंजाब एवं हरियाणा हाइकोर्ट के जस्टिस राजन गुप्ता का तबादला पटना हाइकोर्ट में करने की सिफारिश की है.

2 न्यायिक अधिकारी भी पहुचेंगे हाईकोर्ट

इसके अलावे सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने दो न्यायिक अधिकारियों को भी पटना हाइकोर्ट के जज के लिए पदोन्नत करने का फैसला लिया है. ये दोनों न्यायिक अधिकारी हैं – नवनीत कुमार पांडे और सुनील कुमार पंवार.

पटना हाईकोर्ट में जजों की स्थिति

पटना हाइकोर्ट में जजों की स्थिति यह है कि कुल 53 स्वीकृत पदों में वर्तमान में मुख्य न्यायाधीश समेत 18 न्यायाधीश कार्यरत हैं. चार न्यायाधीशों के आने और एक न्यायाधीश जस्टिस ए अमानुल्लाह के आंध्र प्रदेश हाइकोर्ट चले जाने के बाद पटना हाइकोर्ट में जजों की कुल संख्या 21 हो जायेगी. इसके बाद 8 नए जजों के आने के बाद कुल 29 जज हो जाएंगे. इसके बावजूद भी पटना हाइकोर्ट ने न्यायाधीशों के 24 पद खाली रह जायेंगे.