शिक्षक पद पर 38014 का हुआ चयन, 47906 पद फिर भी रह गए खाली !

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क)| आश्चर्य है कि बिहार सरकार को शिक्षक पद के लिए कैंडिडेट नहीं मिल रहे हैं. तभी तो शिक्षकों की दो चरणों की काउंसिलिंग के बाद भी 47907 पद खाली रह गए हैं. इस बात की जानकारी बिहार शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने शुक्रवार को दी.

जी हां, जहां देश में हर व्यक्ति सरकारी नौकरी की खोज में है, वहीं दूसरी तरफ सरकारी नौकरी उपलब्ध होने के बावजूद बिहार सरकार को कैंडिडेट नहीं मिल रहे हैं. बिहार में 90762 शिक्षकों की बहाली के लिए दो चरणों की काउंसिलिंग की गई. इसके बाद भी 47907 पद खाली रह गए हैं.

बता दें, बिहार में दो चरणों की काउंसिलिंग के बाद सिर्फ 38014 अभ्यर्थियों का चयन किया गया है. अपर मुख्य सचिव ने बताया कि कक्षा 1 से 5 के लिए सामान्य विषय में 47742 पदों में 23528 पद खाली रह गए हैं जबकि 24214 अभ्यर्थी मिले हैं.

उन्होंने बताया कि कक्षा 6 से 8 तक में 23206 रिक्त पदों में 11728 अभ्यर्थी मिले, जबकि 11478 पद खाली रह गए हैं. खास बात यह है कि खाली पदों को लेकर विभाग के द्वारा शुक्रवार को एक समीक्षा बैठक की गई.

Also Read | पूर्व मध्य रेल: 28 जोड़ी स्पेशल ट्रेनों के परिचालन अवधि में वृद्धि

सूत्रों के अनुसार माना जा रहा है कि जल्द ही तीसरे चरण की काउंसिलिंग के लिए भी तारीख का ऐलान किया जा सकता है. इस काउंसिलिंग के बाद इन खाली 47907 पदों को भरा जाएगा. बताया जा रहा है कि शिक्षक पदों के लिए अभ्यर्थियों ने कई जगह से आवेदन किया था. इस कारण इतने पद पर बहाली नहीं हो पाई.

योग्य अभ्यर्थियों को एक और मौका

इधर इस मामले पर शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने कहा है कि रिक्त बचे पदों पर योग्य अभ्यर्थियों को एक और मौका दिया जाएगा. इसके लिए सरकार ने यह लक्ष्य रखा है कि सभी रिक्त सीटों पर योग्य अभ्यर्थी मिल जाएं. उन्होंने कहा है कि शिक्षक बहाली हमारी प्राथमिकता है. जहां सीट रिक्त हैं और संबंधित कोटि के योग्य अभ्यर्थी भी है, उन्हें काउंसिलिंग का एक मौका दिया जाएगा.