3 मंत्रियों को मिली शिकस्त; सुरेश शर्मा, रामसेवक सिंह और कृष्ण नंदन वर्मा हारे

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | आखिरकार उठापटक के बीच बिहार की जनता ने एनडीए को एक बार फिर अगले 5 सालों के लिए बिहार की सत्ता सौंप दी है. खबर लिखने तक एनडीए को 125 सीट (123 जीतें + 2 पर आगे) मिल गई है जबकि आरजेडी की अगुवाई वाले महागठबंधन को 110 सीटें प्राप्त हुई हैं.

इधर इस चुनाव में 3 मंत्री बुरी तरह से हार गए हैं. इन मंत्रियों के नाम हैं – सुरेश शर्मा (मुजफ्फरपुर), रामसेवक सिंह (हथुआ) और कृष्ण नंदन वर्मा (जहानाबाद). तीनों मंत्री अपनी विधायिकी तक नहीं बचा पाए.

बिहार विधानसभा चुनाव के वोटों की गिनती के बाद बिहार सरकार में शहरी विकास मंत्री तथा मुजफ्फरपुर से बीजेपी के उम्मीदवार सुरेश शर्मा चुनाव हार गए. उन्हें कांग्रेस के विजेंद्र चौधरी ने 6326 वोटों से हरा दिया.

इसे भी पढ़ें – BREAKING: पश्चिम चंपारण वाल्मिकीनगर लोकसभा सीट का आया नतीजा

उधर जहानाबाद से जेडीयू नेता और बिहार सरकार के मंत्री कृष्ण नंदन वर्मा भी चुनाव हार गए. कृष्ण नंदन वर्मा को आरजेडी के उम्मीदवार कुमार कृष्ण मोहन उर्फ सुदय यादव ने 33902 वोटों की मार्जिन से हरा मात दी.
बता दें कि चुनाव के पहले से ही कृष्ण नंदन वर्मा विरोध का सामना करना पड़ रहा था जबकि बिहार के शिक्षक भी उनसे खासा नाराज थे.

इसे भी पढ़ें – लंदन से लौटी मुख्यमंत्री पद की स्वयंभू उम्मीदवार पुष्पम प्रिया का क्या है हाल

बिहार के एक और मंत्री को इस चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है. हथुआ से जेडीयू उम्मीदवार और सरकार में समाज कल्याण मंत्री रामसेवक सिंह को आरजेडी के राजेश कुमार सिंह ने करारी शिकस्त दी. राजेश कुमार को जहां 86731 मत मिले वहीं रामसेवक सिंह को 56204 वोट मिले. इस प्रकार रामसेवक सिंह इस चुनाव में अपने निकटतम प्रतिद्वंदी आरजेडी के राजेश कुमार सिंह से 30557 वोटों से हार गए.