स्वर कोकिला की अस्थियां नासिक स्थित गोदावरी में विसर्जित

मुंबई (TBN – The Bihar Now डेस्क)| स्वर कोकिला लता मंगेशकर की अस्थियों का विसर्जन (Swara Nightingale Lata Mangeshkar’s ashes immersed in Godavari in Nashik) गुरुवार सुबह नासिक जिले में गोदावरी नदी में किया गया. इस मौके पर गायिका आशा भोसले (Asha Bhonsale), उषा मंगेशकर (Usha Mangeshkar), आदि मंगेशकर (Adi Mangeshkar) समेत मंगेशकर परिवार के सदस्य व शिवसेना सचिव मिलिंद नार्वेकर (Shiv Sena Secretary Milind Narvekar) उपस्थित थे.

जानकारी के अनुसार मंगेशकर परिवार लता दीदी का अस्थि कलश लेकर आज सुबह नासिक जिले में रामकुंड पहुंचे थे. रामकुंड परिसर में बनाए गए शामियाने में लता दीदी का अस्थि कलश रखा गया और हजारों लोगों ने लता दीदी के अस्थि कलश का दर्शन कर श्रद्धांजलि अर्पित की. इसके बाद रामकुंड में पुरोहित संघ के अध्यक्ष सतीश शुक्ल की देखरेख में धार्मिक विधि-विधान संपन्न हुआ तथा लता दीदी की अस्थियों को गोदावरी नदी में विसर्जित किया गया.

नासिक के अलावे 2 अन्य जगहों पर होगा अस्थि विसर्जन

रिपोर्ट्स के मुताबिक, लता मंगेशकर की अस्थियों के एक कलश को काशी स्थित गंगा में विसर्जित किया जाएगा. इस दौरान यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) भी मौजूद रह सकते हैं. इसके अलावा, हरिद्वार में भी लता मंगेशकर की अस्थियों को प्रवाहित किया जाएगा.

यह भी पढ़ें| “अब हम तो सफर करते हैं”…….. लता दीदी ने दुनिया को कहा अलविदा

बताते चलें, लता दीदी ने 92 साल की उम्र में मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में 6 फरवरी को सुबह अंतिम सांस ली थी. इसके बाद मुंबई में दादर स्थित शिवाजी पार्क मैदान में लता दीदी का राजकीय सम्मान के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे सहित अति विशिष्ठ लोगों की मौजूदगी में अंतिम संस्कार किया गया था. हृदयनाथ मंगेशकर के बेटे आदि मंगेशकर ने 7 फरवरी को लता दीदी की अस्थियां शिवाजी पार्क से संकलित की थी. यहां पूरे विधि विधान के बाद लता मंगेशकर की अस्थियों को 3 कलश में रखकर आदि मंगेशकर को सौंपा गया था.