RJD विधायक ने सुशांत के राजपूत होने पर उठाया सवाल

पटना (TBN – The Bihar Now डेस्क) | बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में CBI जाँच कर रही है जिसके बाद पुरे देश की निगाहे CBI पर टिकी है. सुशांत केस के नाम पर देश भर में खुद सियासत चल रही है. इसी कड़ी में बिहार RJD विधायक ने सुशांत सिंह पर विवादास्पद टिप्पणी देकर विवाद बढ़ा दिया है.

सहरसा से RJD विधायक अरुण यादव ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत, दरअसल राजपूत ही नहीं था. ये कहने के बाद अरुण यादव ने कहा कि कोई बुरा मत मानियेगा क्योंकि राजपूत महाराणा प्रताप के वंशज है, जो कभी गले में रस्सी लगाकर नहीं मर सकता. महाराणा प्रताप राजपूत के साथ साथ यादवों के भी पुरखा थे.

बीजेपी का अटैक

विधायक अरुण यादव की सुशांत सिंह राजपूत की सुसाइड मामले में टिप्पणी पर बिहार BJP ने अटैक किया है. BJP प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने कहा कि RJD विधायक का बयान बिलकुल ही गलत है और जातिवादी मानसिकता से ग्रसित है. इससे पहले भी तेजप्रताप ने रघुवंश बाबू को समुंदर में एक लोटा पानी बताकर बाहर फेंकने की बात की थी. इन सबसे प्रतीत होता है कि RJD के नेतागण आदतन इस तरह की घटिया बयानबाजी के लिए ही बने हैं.

डॉ. निखिल आनंद ने कहा कि बिहार की जनता देख रही है कि आरजेडी के लोग बिलकुल ही हैबिचुअल ऑफेन्डर हैं. बिहार की जनता आने वाले चुनाव में इन सब का करारा जवाब देगी. इसके साथ ही डॉ. निखिल आनंद ने तेजस्वी पर निशाना साधते हुए कहा कि इस पूरे मामले में तेजस्वी यादव सफाई दे और बतायें कि उनकी सुशांत, रिया, कंगना के मामले में क्या राय है. क्या तेजस्वी अधीर रंजन चौधरी और अपने विधायक के जातिवादी बयानों से सहमति जताते हैं या फिर दोनों के बयानों का विरोध करते हैं. तेजस्वी यादव को चाहिए कि वे महागठबंधन और राजद नेताओं की ओर से बिहार के बेटे सुशांत सिंह राजपूत के खिलाफ गलत जातिवादी टिप्पणी पर सार्वजनिक माफ़ी माँगे.