राज्य सरकारें भी पेट्रोल डीजल के वैट (VAT) में करें कमी – धर्मेंद्र प्रधान

नई दिल्ली (TBN – The Bihar Now डेस्क)| केंद्र द्वारा पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क कम करने के बाद, केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Union Education Minister Dharmendra Pradhan) ने बुधवार को कहा कि राज्य सरकारों को भी वैट (VAT) में कमी जैसी ठोस कार्रवाई करनी चाहिए जिससे ईंधन की कीमत में और कमी आएगी और उपभोक्ताओं को अधिक राहत मिलेगी.

पूर्व में पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस का पोर्टफोलियो संभाल चुके प्रधान ने कहा कि उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए यह मोदी सरकार का एक जिम्मेदार फैसला (responsible decision) है.

धर्मेंद्र प्रधान ने ट्वीट (tweet) किया, “कल से पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में क्रमश: 5 रुपये और 10 रुपये की कटौती के केंद्र के फैसले का स्वागत है. उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए यह मोदी सरकार का एक जिम्मेदार निर्णय है.”

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, “पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क को कम करने के केंद्र के फैसले ने राज्य सरकारों के लिए भी सूट का पालन करने का खाका तैयार किया है. राज्य सरकारों की ठोस कार्रवाई से ईंधन की कीमत में और कमी आएगी और उपभोक्ताओं को अधिक राहत मिलेगी”.

यह भी पढ़ें| पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क घटा, दिवाली के दिन होगा से प्रभावी

बता दें, एक महत्वपूर्ण निर्णय में केंद्र ने बुधवार को दो पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों को कम करने के लिए पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क कम कर दिया, जो लगातार बढ़ रहे थे. उपभोक्ताओं को राहत दिवाली की पूर्व संध्या पर आई है. वित्त मंत्रालय ने कहा कि पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 5 रुपये और डीजल पर 10 रुपये कम हो जाएगा और यह गुरुवार से प्रभावी होगा.

इसने राज्यों से उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए पेट्रोल और डीजल पर वैट (VAT) को “अनुपात में कम करने” का आग्रह किया.