क्या नीतीश कुमार का भविष्य आश्रम में बीतेगा ?

पूर्णिया (TNB – अनुभव सिन्हा)। महागठबंधन सरकार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के भविष्य को आकार देने का संकेत दो दिन पूर्व राजद के राज्य परिषद की बैठक में दे दिया गया था. अब उस संकेत पर चर्चा भी होने लगी है. चर्चा यह है कि नीतीश कुमार का भविष्य आश्रम में बीतेगा.

इसका जिक्र करते हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल ने पूर्णिमा में कहा कि नीतीश आश्रम जाएं लेकिन भाजपा बिहार को अनाथालय नहीं बनने देगी.

शुक्रवार को पूर्णिया के रंगभूमि मैदान में आयोजित जनभावना सभा में लोगों को संबोधित करते हुए उन्होने ये बातें कहीं और विरोधियों पर जमकर निशाना साधा.

उन्होंने कहा कि यह धरती एक समय अपराध की धरती थी, लोग शाम के बाद यहां घर से बाहर नहीं निकलते थे. इस क्षेत्र का विकास तब हुआ जब भाजपा की सरकार आई. पहले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी जी की सरकार ने इस इलाके में सडके बनवाई, पुल बनवाए, प्रधानमंत्री सडक योजना से गांवों में सड़कें बनीं. इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब प्रधानमंत्री बने तब फिर से इस क्षेत्र का विकास हो रहा है.

उन्होंने कहा कि इस इलाके में किशनगंज में बंगलादेशीयों द्वारा थानाध्यक्ष की हत्या की जाती है और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के नाते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से प्रश्न करते हैं तो उन्हें बुरा लगता था. अगर यहां से 128 बेटियां अचानक गायब हो जाती है और उसके विषय में मुख्यमंत्री से पूछते हैं तब भी नीतीश कुमार जी को बुरा लगता था कि हमारा सहयोगी ऐसे क्यों सवाल खडा कर रहा है. आज नीतीश कुमार जी ऐसे गठबंधन के साथ हो लिए जहां कोई अपराध, अपहरण, हत्या के बारे में नहीं पूछेगा. लेकिन भाजपा उनसे सभी हिसाब लेकर रहेगी.

उन्होंने राजद के नीतीश के आश्रम जाने के बयान पर तंज कसते हुए कहा कि नीतीश कुमार आश्रम जाएं लेकिन भाजपा बिहार को किसी कीमत पर अनाथालय नहीं बनने देगी, यह प्रत्येक भाजपा कार्यकर्ता का वचन है.

उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि नीतीश कुमार को हमलोग सबक सिखाकर मानेंगे. उन्होंने कहा कि 2024 में हमारी जीत होगी और 2025 में भी भाजपा का मुख्यमंत्री होगा.