पुरखों के त्याग और बलिदान पर हमें गर्व : रामसूरत राय

बख्तियारपुर (TBN – अखिलेश्वर कुमार सिन्हा की रिपोर्ट)| 1942 की अगस्त क्रांति (August Kranti 1942) के अमर शहीद नाथुन सिंह यादव (Nathun Singh Yadav) के बलिदान दिवस पर बख्तियारपुर (Bakhtiyarpur) में निर्मित उनकी आदमकद प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की गई. इस अवसर पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा का उद्घाटन बिहार के राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामसूरत राय ने किया.

सभा को संबोधित करते हुए राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामसूरत राय (Ram Surat Rai) ने कहा कि पुरखों के त्याग और बलिदान पर हमें गर्व है. समरस, समतामूलक और शिक्षित समाज का निर्माण ही नाथुन बाबू जैसे स्वतंत्रता सेनानियों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी.

इस श्रद्धांजलि सभा के मुख्य अतिथि बिहार के विज्ञान व प्रौद्दोगिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह (Sumit Kumar Singh) ने कहा कि हमें इतिहास से प्रेरणा लेकर नूतन इतिहास बनाने वाली पीढ़ी बनने का काम करना है. उन्होंने कहा कि नाथुन सिंह ने जिस पवित्र उद्देश्य के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर किया, उस आजादी को महफूज रखना हमारा पुनीत कर्तव्य है.

सभा के विशिष्ट अतिथि भारत सरकार के पूर्व मंत्री सह वर्तमान विधान पार्षद डॉ० संजय पासवान ने कहा कि यह बहुत खुशी की बात है कि जाँबाज क्रांतिकारी नाथुन सिंह यादव को शिद्दत से याद करने वाले इस आयोजन में दलीय सीमा टूट गई है. उन्होंने कहा कि दलीय, जातीय और मजहबी बंधन से उन्मुक्त होकर ही हम नए भारत को गढ़ सकते हैं.

स्व० नाथुन बाबू के प्रपौत्र युवा समाजसेवी जितेन्द्र कुमार के संयोजन व साहित्यकार हेमंत कुमार के संचालन में आयोजित इस श्रद्धांजलि कार्यक्रम को पूर्व विधायक विजय कुमार “विजय”, पूर्व विधान पार्षद राजेश कुमार उर्फ राजू यादव एवं युवा समाजसेवी धनंजय कुमार “प्रभाकर” ने भी संबोधित किया.

Also Read | गंगा के विकराल रूप से राजधानी के सभी श्मशान घाट हुए जलमग्न

स्वागत भाषण देते हुए बाढ़ नगर परिषद के चेयरमैन राजीव कुमार ‘चुन्ना’ ने स्वाधीनता समर में बाढ़ अनुमंडल के क्रांतिकारी योगदान की विस्तारपूर्वक चर्चा की.

अध्यक्षीय संबोधन में स्थानीय विधायक अनिरुद्ध यादव ने कहा कि अमर शहीद को कृतज्ञतापूर्वक नमन करना तीर्थाटन के समान फलदायी है. धन्यवाद ज्ञापन जदयू के प्रदेश महामंत्री शंकर सिंह ने किया.